Mutual Funds Vs Real Estate: ज़्यादा रिटर्न्स पाने के लिए क्या है निवेश का बेहतर विकल्प? ⁩

Mutual Funds Vs Real Estate: ज़्यादा रिटर्न्स पाने के लिए क्या है निवेश का बेहतर विकल्प? ⁩

अचल संपत्ति में निवेश करने से पहले आपको जिन प्रमुख पहलुओं पर विचार करना चाहिए, उनमें से एक रिटर्न की निरंतरता है. कई निवेशकों का मानना है, कि Real Estate निवेश में समय के साथ हमेशा सुधार होता है. सच कहा जाए, तो ये तर्क बेहद असंगत हैं. किसी अचल संपत्ति  का मूल्य क्षेत्र में विकास के बावजूद कम हो सकता है. साथ ही, विकसित क्षेत्र के पहलुओं जैसे कि यातायात में वृद्धि या शहर में खराब पहुंच को देखते हुए समय के साथ संपत्ति का मूल्य बढ़ने में मुश्किल हो सकती है. दूसरी ओर, Mutual Funds ने तुलनात्मक रूप से बेहतर स्थिरता दिखाई है. पिछले कुछ वर्षों में महँगाई को मात देने वाले रिटर्न प्रदान किए हैं. हालांकि Mutual Funds के साथ कई जोखिम जुड़े रहते हैं. लेकिन मध्यम जोखिम वाले फंड जैसे डेट फंड या हाइब्रिड फंड में निवेश करके जोखिम को नियंत्रित किया जा सकता है, जो अस्थिर होते हैं और स्थिर रिटर्न देते हैं.

वर्तमान परिदृश्य में, लोगों द्वारा Real Estate की तुलना में Mutual Funds में अधिक निवेश किया जा रहा है, जिससे Mutual Funds निवेश का बेहतर विकल्प साबित हो सकते हैं.  हालांकि, Mutual Fund उन निवेशकों के लिए काफी सामान्य विकल्प साबित हुए हैं, जो महँगाई के बावजूद धन संचय करना चाहते हैं. Mutual Fund में कंपाउंडिंग की शक्ति Real Estate निवेश की तुलना में उच्च रिटर्न उत्पन्न करने में मदद करती है, जो महँगाई के दौरान प्रदर्शन करने में विफल रहते हैं. 

Mutual Funds में निवेश से उत्पन्न रिटर्न, Real Estate निवेश की तुलना में अधिक है. जहां Real Estate पर प्रति वर्ष रिटर्न की दर 7 फीसदी तक मिल सकती है. वहीं Mutual Fund प्रति वर्ष, 11 से 14 फीसदी के बीच रिटर्न प्रदान करते हैं. साथ ही, 19% प्रति वर्ष रिटर्न फंड के प्रकार पर निर्भर करता है. यह निवेशकों को उच्च रिटर्न उत्पन्न करने में मदद करता है, साथ ही महँगाई के प्रभाव को सहन करता है और धन जमा करने में मदद करता है. 

Real Estate निवेश में बहुत सारी प्रक्रियाएं और कागजी कार्रवाई शामिल हैं. इसके अलावा, निवेशक अन्य खर्च भी करते हैं, जैसे कि CERSAI शुल्क, स्टांप शुल्क, पंजीकरण शुल्क, आदि. यह निवेशकों के लिए काफी थकाऊ और समय लेने वाली प्रक्रिया हो सकती है. दूसरी ओर, Mutual Funds में निवेश करना एक आसान प्रक्रिया है. निवेश शुरू करने में केवल कुछ मिनट का ही समय लगता हैं. आपको बस एक SIP के माध्यम से निवेश करना है, जहां मासिक आधार पर राशि आपके बैंक खाते से स्वचालित रूप से डेबिट हो जाएगी. इन निवेशों में कोई अतिरिक्त खर्च भी शामिल नहीं है

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com