Mamata Banerjee News: आर या पार की है लड़ाई, भवानीपुर सीट से भरेंगी नामांकन

Mamata Banerjee News: आर या पार की है लड़ाई, भवानीपुर सीट से भरेंगी नामांकन

पश्चिम बंगाल में विधानसभा उपचुनावों की तारीख घोषित होते ही चुनावी चर्चाएं तेज़ हो गई हैं. बंगाल में तीन विधानसभा सीटें भवानीपुर, समशेरगंज और जंगीपुर में उपचुनाव होने जा रहे हैं, लेकिन भवानीपुर की चर्चाएं सबसे तेज़ हैं. दरअसल, बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख Mamata Banerjee भवानीपुर से चुनाव लड़ने जा रही हैं. वे आज भवानीपुर विधानसभा सीट के लिए अपना नामांकन दर्ज करवाएंगी. 

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में 30 सितंबर को उपचुनाव करवाने की घोषणा की है. चुनाव संपन्न होने के बाद 3 अक्टूबर को सभी मतों की गिनती कर परिणाम घोषित किया जाएगा. Mamata Banerjee के लिए ये आर या पार की लड़ाई है, अगर वे चुनाव हार जाती हैं तो उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देना होगा. इस बार के उपचुनाव दो पार्टी तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के लिए काफी अहम है. जहां बंगाल की मुख्यमंत्री अपनी आर पार की लड़ाई लड़ेगीं, वहीं बीजेपी अपनी साख बचाने मैदान में उतरेगी.

दरअसल, संविधान के मुताबिक अगर कोई मुख्यमंत्री विधानसभा सीट से निर्वाचित सदस्य नहीं है तो उसे 6 महीने के भीतर किसी भी एक विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर जीत हासिल करनी होती है. वहीं, टीएमसी प्रमुख फिलहाल किसी भी सीट से निर्वाचित विधानसभा सदस्य नहीं है. गौरतलब है कि राज्य में हुए पिछले विधानसभा चुनावों में नंदीग्राम सीट से उन्हें बीजेपी के Suvendu Adhikari से हार का सामना करना पड़ा था. ऐसे में उन्हें इस बार के उपचुनावों में हर हालत में भवानीपुर सीट से जीत हासिल करनी जरुरी है. 

हालांकि, Mamata Banerjee के लिए आर पार की लड़ाई जरूर है लेकिन कांग्रेस पार्टी का समर्थन उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस ने भवानीपुर सीट से अपना उम्मीदवार उतारने से मना कर दिया है. ऐसे में Mamata को वोटों में थोड़ी राहत मिल सकती है. 

वहीं, बीजेपी ने अभी तक अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है, हालांकि चर्चा ये है कि बीजेपी Mamata के खिलाफ Priyanka Tibrewal को मैदान में उतारने की तैयारी में है. 

यह भी पढ़ें: West Bengal News: BJP सांसद के घर के पास फेंका गया बॉम्ब, राज्यपाल ने की सख्त जांच की मांग

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com