LIC NEWS: कंपनी में अपनी हिस्सेदारी को दो चरणों में बेचने की तैयारी में सरकार

LIC NEWS: कंपनी में अपनी हिस्सेदारी को दो चरणों में बेचने की तैयारी में सरकार

केंद्र सरकार ने Life Insurance Corporation (LIC) में अपनी हिस्सेदारी को बेचने की प्रक्रिया में तेज़ी लाई है. जिसके बाद, कंपनी को 2 हिस्से में बेचे जाने की बात अंतिम चरण पर है. इसकी वजह, इसका बड़ा और फैला हुआ आकार है. जो कि, इक्विटी मार्केट में मुश्किलें पैदा कर सकता है. कहा जा रहा है, कि शुरुआत में सरकार, LIC की केवल 5-6 प्रतिशत हिस्सेदारी ही बेच सकती है. जो कि IPO के जरिये होना निश्चित हुआ है. 

इसी क्रम में, सरकार LIC के दूसरे IPO के भी आने की संभावना है. फिलहाल, कंपनी का वैल्यूएशन अभी तय नहीं है. पर एक अनुमान के मुताबिक, यह 12-15 लाख करोड़ रुपये के बीच होगा. IPO के संबंध मदद और परामर्श के लिए, विधि सलाहकार और मर्चेंट बैंकर्स से बोलियां आमंत्रित कराई गई है. निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के अनुसार, इसकी अंतिम तिथि 6 अगस्त 2021 है. 

कंपनी के IPO को लेकर, सरकार की भी कुछ आशंका है. जिनमें सबसे मुख्य है, कंपनी का आकार. LIC IPO  को लेकर केंद्र सरकार का मानना है, कि इतने बड़े पब्लिक ऑफर से, प्राइवेट कंपनियों को मुश्किल हो सकती है. जिसका सीधा असर, इकानाॅमी की रफ्तार पर होगा.

LIC केवल देश में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी स्थापित है. इसके अलावा, कंपनी की सब्सिडियरी, ज्वाइंट वेंचर्स और असोसिएट्स भी हैं. जो देश के साथ-साथ विदेश में भी काम कर रहे हैं. इनमें, भारत में काम कर रही LIC HFL, IDBI Bank Limited, आदि शामिल है. 

इन सबके बीच, LIC IPO भी चर्चा में है. इसे भारत की, सबसे बड़ी और अहम लिस्टिंग मानी जा रही है. जिसकी मंजूरी, आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (CCEA) ने हाल ही में दी थी. वहीं, मीडिया रिपोर्टस के आधार पर, इसके मार्च 2022 तक आने की संभावना है. 

आपको बता दें, कि इस वर्ष सरकार ने, विनिवेश से 1.75 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है. इसमें से, 1 लाख करोड़ रुपये, सरकार की बैंक और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन्स में अपनी हिस्सेदारी बेचकर आने है. जिस वजह से, LIC के IPO को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. ये जानकारी, इस वर्ष के बजट में दी गई थी.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com