Jyotiraditya Scindia News: लोक सभा में आज मानसून सत्र के 8वें दिन पर एयरपोर्ट्स इकोनॉमिक रेगुलेटरी विधेयक में संशोधन पेश करेंगे

Jyotiraditya Scindia News: लोक सभा में आज मानसून सत्र के 8वें दिन पर एयरपोर्ट्स इकोनॉमिक रेगुलेटरी विधेयक में संशोधन पेश करेंगे

नागरिक उड्डयन मंत्री Jyotiraditya Scindia मानसून सत्र के आठवें दिन गुरुवार को लोकसभा में संशोधन विधेयक पेश करेंगे. यह एयरपोर्ट्स इकोनॉमिक रेगुलेटरी विधेयक 2021 में संशोधन करेगा. विधेयक के उद्देश्यों एवं कारणों में कहा गया है, कि एयरपोर्ट्स इकोनॉमिक रेगुलेटरी विधेयक 2021 मेजर हवाई अड्डों की परिभाषा को संशोधित करेगा. जिससे हवाई अड्डों के समूह के लिये शुल्क (टैरिफ) का निर्धारण करने के लिये विस्तार किया जा सके. यह छोटे हवाई अड्डों के विकास को प्रोत्साहन प्रदान करेगा, ताकि यह छोटे हवाई अड्डे भी लाभ कमा सकें. 

इस संशोधित विधेयक में कहा गया है, कि अधिक यातायात एवं लाभ प्रदान करने वाले हवाई अड्डों का विकास होगा. साथ ही, कम यातायात वाले एवं लाभ नहीं कमाने वाले हवाई अड्डों का भी विकास होगा. इस संशोधित विधेयक में यह भी कहा गया है, कि सरकार ने लाभ प्रदान करने वाले और लाभ नहीं प्रदान करने वाले विमानपत्तनों को जोड़ने का निश्चय किया है. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि यह विधेयक पहली बार Jyotiraditya Scindia द्वारा मार्च 2021 में पेश किया गया था. लेकिन उस समय इस विधेयक को पर्यटन और संस्कृति पर संसदीय स्थायी समिति के पास भेज दिया गया था. 

पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री Sarbananda Sonowal भी लोकसभा में अंतर्देशीय पोत विधेयक पेश करेंगे. प्रस्तावित कानून अंतर्देशीय जहाजों की सुरक्षा, सुरक्षा और पंजीकरण के नियमन के लिए अंतर्देशीय पोत अधिनियम, 1917 को बदलना चाहता है. आपको बता दें, कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 16 जून 2021 को इस विधेयक को मंजूरी दी थी. 

केंद्रीय वित्त मंत्री Nirmala Sitharaman आज राज्यसभा में फैक्टरिंग रेगुलेशन (संशोधन) विधेयक, 2021 पेश करेंगी. आपको बता दें, कि सोमवार को लोकसभा में बिल पास हो गया था. यह बिल फैक्टरिंग व्यवसाय में शामिल संस्थाओं के दायरे को बढ़ाकर 2011 के फैक्ट्री रेगुलेशन एक्ट को उदार बनाने का प्रयास करता है. इस विधेयक में मुख्य रूप से असाइनमेंट और फैक्टरिंग व्यवसाय की परिभाषाओं में संशोधन शामिल हैं. 

यह भी पढ़ें: MSME Dues: लंबित पड़े भुगतानों को, अपनी निगरानी में पूरा करवा रही हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com