Indian Politicians 2021: साल भर रही इन विवादित बयानों की चर्चा, जानें किसके बिगड़े बोल

Indian Politicians 2021: साल भर रही इन विवादित बयानों की चर्चा, जानें किसके बिगड़े बोल

भारत के संविधान में प्रत्येक नागरिक को बोलने एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार प्रदान किया गया है. मगर कई Indian Politicians, इस अधिकार का प्रयोग करके ऐसे कुछ विवादित बयान दे देते हैं, जो विवाद का कारण बन जाता है. केवल इतना ही नहीं, कई बार नेताओं को बाद में दिए गए बयानों पर शर्मिंदा होकर माफ़ी भी माँगनी पड़ती है. कई बार बयान इतना विवाद पकड़ लेता है, कि उनको पार्टी से भी बाहर कर दिया जाता है. आइए इस साल को अलविदा करते हुए एक नज़र डालते हैं उन बयानों पर, जो Indian Politicians द्वारा दिए गए और बाद में विवाद का कारण बनें. 

1. Rahul Gandhi: "मैं हिन्दू हूँ, लेकिन हिंदुत्वादी नहीं"

कांग्रेस द्वारा जयपुर में आयोजित रैली में Rahul Gandhi ने कहा था, कि "महात्मा गांधी हिंदू थे और गोडसे हिंदुत्वादी था". उन्होंने यह भी कहा था, कि "मैं हिंदू हूं, लेकिन हिंदुत्वादी नहीं हूं, जैसे दो जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती, वैसे ही दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता". 

2. Mamata Banerjee: "रावण और दानव म‍िलकर चला रहे हैं" 

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों में, Mamata Banerjee ने कई विवादित बयान दिए थे. इस साल मार्च में सिलीगुड़ी के साथ हुगली रैली करते हुए उन्होंने कहा था, कि "रावण और दानव म‍िलकर देश को चला रहे हैं". 

3. Rajendra Singh Gudha: "कैटरीना के गाल जैसी सड़क"

राजस्थान के राज्य मंत्री, Rajendra Singh Gudha जब मंत्री बनने के बाद पहली बार अपने चुनाव क्षेत्र में गए थे. इस दौरान उन्होंने पीडब्लूडी के चीफ इंजीनियर से कहा था, कि "उनके इलाके की सड़कें Katrina Kaif के गालों जैसी बना दो. हेमा मालिनी तो बूढ़ी हो गई है". 

4. Akhilesh Yadav: "बनारस अच्छी जगह है, आखिरी समय में वहीं रहा जाता है"

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, Akhilesh Yadav ने प्रधानमंत्री Narendra Modi पर विवादित बयान देते हुए कहा था, कि "प्रधानमंत्री एक महीना, क्या 3 महीने तक बनारस में रहें. अच्छी जगह है, आखिरी समय में वहीं रहा जाता है". 

5. Mani Shankar Aiyar: "मुगलों ने तो इस देश को अपना बनाया"

Indian Politicians द्वारा दिए गए विवादित बयानों में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता Mani Shankar Aiyar का नाम भी शामिल है. उन्होंने कहा कि मुगलों ने देश को अपना बनाया, भारतीय जनता पार्टी वाले मुझे कहते हैं, कि ये बाबर की औलाद है, वह तो कुछ समय ही यहां रहे. हम अकबर को अपना समझते हैं, इसलिए हमें अकबर रोड के कोई आपत्ति नहीं है. 

6. Priyanka Gandhi: "हवाई जहाज में उड़कर आए वाराणसी में नौटंकी करने प्रधानमंत्री"

कांग्रेस महासचिव Priyanka Gandhi ने अमेठी की एक सभा में कहा है, कि "क्या आपको ऐसे प्रधानमंत्री चाहिए, जो आपको गेहूं-धान का दाम सही नहीं दे सकते हैं? मगर 8 हज़ार करोड़ रूपए के हवाई जहाज़ में उड़कर वाराणसी में नौटंकी करने आ सकते हैं". 

7. Ramesh Kumar: "बलात्कार होना ही है, तो लेट जाओ और इसका मजा लो"

कर्नाटक कांग्रेस के विधायक, Ramesh Kumar के बयान ने सारी कांग्रेस को शर्मसार होना पड़ा था. उन्होंने कर्नाटक विधानसभा में कहा है, कि "जब बलात्कार होना ही है, तो लेट जाओ और इसके मज़े लो". इस बयान को लेकर काफ़ी विवाद हुआ, जिसके बाद उन्होंने माफ़ी भी मांगी थी. 

8. Pragya Thakur: "अज़ान से होती है लोगों की नींद खराब"

भाजपा सांसद Pragya Thakur ने अज़ान पर बयान देते हुए कहा था, कि "लोग ज़बरदस्ती लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन हम दूसरे धर्मों की प्रार्थना नहीं सुनेंगे. लाउडस्पीकर की आवाज़ से सुबह 5 बजे से ही सभी की नींद उड़ी हुई है. वहीं मरीजों को हाई ब्लड प्रेशर भी हो जाता है. इसके अलावा, कुछ मरीजों की रातों की नींद हराम हो जाती है और उन्हें नींद आती भी है, तो अज़ान की आवाजें आने लगती है और नींद में खलल पड़ता है". 

9. Gulab Chand Kataria: महाराणा प्रताप पर गलत जानकारी

साल 2021 में विवादित बयान देने वाले Indian Politicians की सूची में, बीजेपी नेता Gulab Chand Kataria ने राजसमंद में एक जनसभा को संबोधित किया था. इसमें उन्होंने कहा था, कि "हमारे पूर्वजों ने 1000 साल तक लड़ाई लड़ी है. यह महाराणा प्रताप अभी-अभी गया है. क्या उसे पागल कुत्ते ने काट लिया था, कि वह अपनी राजधानी और अपना घर छोड़ कर, अलग-अलग पहाड़ों में घूमता हुआ रो रहा था"? 

10. Madan Dilawar: "डोटासरा पर अपमानजनक टिप्पणी"

नेताओं की इस सूची में बीजेपी नेता, Madan Dilawar ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष Govind Singh Dotasra की ओर से, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लगातार किए जा रहे हमलों को लेकर पलटवार किया. उन्होंने कहा है, कि "संगठन को अनुशासनहीन बताने वाले डोटासरा संघ के शौचालय के बाहर खड़े होने के लायक नही है".

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com