Bird Flu: भारत में वायरस से हुई पहली मौत, 11 साल का बच्चा हुआ शिकार

Bird Flu: भारत में वायरस से हुई पहली मौत, 11 साल का बच्चा हुआ शिकार

Bird Flu का वायरस जो अब तक सिर्फ पक्षियों में मौत का कारण बनता था, अब इंसानों को भी संक्रमित कर रहा है. आज तक विश्व भर में Bird Flu वायरस से इंसानों में कोई मौत दर्ज नहीं की गई थी. लेकिन भारत में हाल ही में इस वायरस ने एक 11 साल के बच्चे की जान ले ली है. 

दिल्ली के AIIMS अस्पताल में भर्ती यह बच्चा Bird Flu वायरस से संक्रमित था. शुरू में यह समझा गया कि, बच्चा शायद Covid-19 से संक्रमित है. बाद में हुई जांच के बाद, बच्चा Bird Flu वायरस के लिए पॉजिटिव पाया गया था. मंगलवार, जुलाई 20 को इस बच्चे की मौत हो गई थी. वहीं अब बच्चे के आसपास रहे सभी लोगों को निगरानी में रखा जा रहा है.

क्या है Bird Flu?

Bird Flu एक एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस है. यह वायरस आमतौर पर पक्षियों को संक्रमित करता है. जो पक्षियों की मौत का बड़ा कारण होता है. यह वायरस इंसानों को बहुत कम संक्रमित करता है. इंसानों में इसके संक्रमण का पहला मामला पिछले साल अक्टूबर महीने में लाओस देश से सामने आया था. लेकिन उस मामले में भी संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ हो गया था. वायरस संक्रमित पक्षियों की लार, म्यूकस और मल से फैल सकता है. इस वायरस के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि, एक इंसान से दूसरे इंसान में इसके फैलने के काफी कम आसार होते हैं.

कितना खतरनाक है यह वायरस?

Bird Flu वायरस के संक्रमण के मामलों में मृत्यु दर 60% तक की हो सकती है. आपको बता दें, कि कोरोना वायरस के अंदर मृत्यु दर सिर्फ 3% है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार, 2003 से अब तक 2390 एवियन इन्फ्लूएंजा के मामले सामने आए हैं. इनमें से 455 मामलों में संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई थी. इसी साल जून महीने में चीन से भी Bird Flu का एक मामला सामने आया था. लेकिन व्यक्ति बाद में स्वस्थ हो गया था. भारत में आए मामले की जांच AIIMS के वायरोलॉजिकल विभाग की और से की जा रही है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com