EU News: भारत और यूरोपीय संघ 8 साल बाद फिर एक बार आरंभ करेंगे FTA वार्ता

EU News: भारत और यूरोपीय संघ 8 साल बाद फिर एक बार आरंभ करेंगे FTA वार्ता
Press Conference by Prime Minister of Portugal Antonio Costa and Prime Minister of the Republic of India Narendra Modi(by video conference),the President of the European Council Charles Michel and the President of the European Commission Ursula Von der Leyen,at the Palacio de cristal in Porto, on 8 May, 2021, Porto, Portugal (Photo by Rita Franca/NurPhoto via Getty Images)

ये फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूरोपीय संघ के सभी 27 राज्यों के सदस्यों ने मिलकर लिया है

FTA यानी फ्री ट्रेड एग्रीमेंट, दो देशों के बीच व्यापार बढ़ाने के लिए किया जाता है। FTA के अनुसार शुल्क, सब्सिडी, कानून और कोटा को आसान बनाया जाता है। भारत और यूरोपीय संघ ने  8 साल बाद फिर एक बार FTA वार्ता को आरंभ करने का फैसला किया है।

विदेश मंत्रालय ने भारत और यूरोपीय संघ के बीच हुई इस FTA वार्ता के बारे में जानकारी दी। विदेश मंत्रालय ने कहा, 'शनिवार को भारत और यूरोपीय संघ ने आठ साल से निलंबित FTA वार्ता पर महत्वाकांक्षी और संतुलित रूप से फायदेमंद व्यापार समझौते के लिए बातचीत शुरू की है और साथ ही दो तरफा व्यापार और निवेश संबंध बनाने पर भी सहमति व्यक्त की है'। 

ये फैसला एक वर्चुअल बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ,और यूरोपीय संघ के सभी 27 राज्यों के सदस्यों ने मिलकर लिया है। उन्होंने यह फैसला व्यापार, कनेक्टिविटी और निवेश के सहयोग से विस्तार को ध्यान में रखकर किया है। 

दोनों पक्षों ने मिलकर माल और सेवाओं पर नियामक सहयोग बढ़ाने को लेकर एक संयुक्त कार्यदल बनाने पर सहमति जताई है। इसमें ग्रीन और डिजिटल टेक्नोलॉजी के साथ ही कोविड 19 महामारी को देखते हुए सप्लाई चेन पर भी एक कार्यदल बनाने का फैसला किया गया है। इसी के साथ, भारत और यूरोपीय संघ ने वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (WTO) और G20 में वैश्विक आर्थिक शासन को और मजबूत करने के लिए, भारत और यूरोपीय संघ वार्ता बनाने पर भी सहमति दी है, जिसमें वह दो तरफा सहायता से WTO से जुड़े मुद्दे, व्यापार और निवेश पर उच्च स्तर की निगरानी करें।

 भारत और यूरोपीय संघ के बीच  फ्री ट्रेड एग्रीमेंट 2013 में व्यापार से जुड़े कुछ अहम मुद्दों जिसमें बाजार में पहुंच और पेशेवरों के चलने पर सहमति न बन पाने के कारण खत्म कर दी गई थी। वहीं इस वार्ता को दोबारा शुरू करने का ऐलान पुर्तगाल में भारत और यूरोपीय संघ द्वारा एक वर्चुअल बैठक में साझा बयान के जरिए किया गया था। इस बैठक में यूरोपीय संघ सदस्यों ने भारत में फैल रही कोविड 19 महामारी में भारत के साथ एकजुटता दिखाई। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूरोपीय संघ से वैक्सीन पेटेंट में छूट में समर्थन करने के लिए भी कहा।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com