India-Afghanistan Relations: भारत ने अफगानिस्तान भेजी दवाओं की पहली खेप

India-Afghanistan Relations: भारत ने अफगानिस्तान भेजी दवाओं की पहली खेप

भारत सरकार ने आज Afghanistan में मौजूद भारतीय मूल के नागरिकों के लिए दवाइयों की एक खेप भेजी है. इस खेप को एक चार्टर्ड विमान के जरिए Afghanistan पहुंचाया गया है. इन दवाओं को वहां के Indira Gandhi Child Hospital में इस्तेमाल किया जाएगा.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा, कि दवाएं काबुल में World Health Organization(WHO) के प्रतिनिधियों को सौंपी जाएंगी और काबुल के Indira Gandhi Child Hospital में इस्तेमाल की जाएंगी."

तालिबानियों द्वारा कब्जाए गए Afghanistan के लिए, भारत की तरफ़ से यह पहली मदद है. भारत सूखे, Covid-19 महामारी और संघर्ष की चपेट में आए Afghanistan को मानवीय सहायता पैकेज के तहत ज़रूरी सामान और दूसरी मदद भेजने के तौर-तरीकों पर काम कर रहा है. इसमें 50,000 किलो गेंहू मुख्य मदद होगी.

विदेश मंत्रालय के एक और बयान में कहा गया है, कि शुक्रवार को आई विशेष उड़ान में अफगान अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों सहित 10 भारतीयों और 94 अफगानों को लाया गया था. ऑपरेशन देवी शक्ति के तहत, अब कुल 669 लोगों को Afghanistan से निकाला गया है. इसमें 448 भारतीय और 206 अफगान शामिल हैं, जिसमें अफगान हिंदू/सिख अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य भी हैं. अगस्त 2021 में 438 भारतीयों सहित 565 लोगों को Afghanistan से निकाला गया है.

कुछ दिन पहले भारत में हुए, India -Russia Summit, के दौरान भी Afghanistan के मुद्दे को उठाया गया था. भारत के प्रधानमंत्री Narendra Modi और रूस के राष्ट्रपति Vladimir Putin ने इस बारे में चिंता व्यक्त की थी. Vladimir Putin ने इस संदर्भ में कहा, कि "हम निश्चित रूप से आतंकवाद से जुड़ी हर चीज और उसके खिलाफ लड़ाई को लेकर चिंतित हैं. हम जानते हैं, कि इस समय अफगानिस्तान भुखमरी से मर रहा है, इसलिए हम वहां पर हर जरूरी मदद पहुंचाने की प्रयास करेंगे."

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com