Farm Laws Repeal: लोकसभा शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन रद्द हुआ बिल

Farm Laws Repeal: लोकसभा शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन रद्द हुआ बिल

आज लोकसभा के शीतकालीन सत्र का पहला दिन था. पहले ही दिन प्रधानमंत्री Narendra Modi द्वारा किए गए वादे के अनुसार Farm Laws को निरस्त कर दिया गया था. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि प्रधानमंत्री ने गुरु नानक जयंती के अवसर पर यह वादा किया था.

हालांकि इस बिल को निरस्त करने की पेशकश के बाद, लोकसभा में विपक्षी नेताओं के द्वारा काफी हंगामा खड़ा किया गया और 12:00 बजे तक सदन की कार्यवाही को स्थगित भी करना पड़ा. लेकिन सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होते ही इस Farm Laws बिल को रद्द कर दिया गया. लोकसभा अध्यक्ष Om Birla ने कहा, कि "जब तक सदन ठीक नहीं होगा वह चर्चा की अनुमति नहीं देंगे."

अगर इस हंगामे की बात करें, तो कांग्रेस नेता Adhir Ranjan Chowdhury ने बिल को निरस्त करने के लिए चर्चा की मांग की थी. लेकिन इस चर्चा को ज्यादा लंबा ना चलाते हुए बिल को जल्द ही निरस्त कर दिया गया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि इस कानून को केंद्र सरकार द्वारा पिछले वर्ष लागू करने की घोषणा की गई थी. लेकिन इस घोषणा के होते ही उत्तर भारत के बहुत से किसान धरने पर बैठ गए. इस धरने में Farm Laws को निरस्त करने की निरंतर मांग की जा रही थी.

इसी के चलते किसान नेताओं और केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल के बीच लगभग 13 से 14 बार बातचीत भी हुई. लेकिन किसान अपनी जिद से नहीं हटे, वह निरंतर इस बिल को निरस्त करने की मांग करते रहे. आखिरकार प्रधानमंत्री Narendra Modi ने वर्ष 2021 में गुरु नानक देव जयंती के मौके पर इस बिल को निरस्त करने का ऐलान कर दिया था. उन्होंने इसके बारे में स्पष्टता प्रकट करते हुए कहा, कि हम Farm Laws बिल को इसलिए निरस्त कर रहे हैं क्योंकि हमें लगता है कि केंद्र सरकार किसानों को अपनी बात समझाने में असक्षम रही है."

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com