Yashpal Sharma News: 1983 वर्ल्ड कप का सितारा टूटा, दिल के दौरे से हुई मृत्यु

Yashpal Sharma News: 1983 वर्ल्ड कप का सितारा टूटा, दिल के दौरे से हुई मृत्यु
Yashpal Sharma of India batting during his innings of 59 runs in the tour match between MCC and India at Lord's Cricket Ground, London, 30th June 1979. The match ended in a draw. (Photo by Patrick Eagar/Popperfoto via Getty Images)

भारत ने 1983 में पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड कप अपने नाम किया था. Yashpal Sharma इस अनोखी गौरव गाथा का एक हिस्सा थे. ज़िन्दगी के 66 वर्ष जी चुके Yashpal Sharma का निधन, दिल का दौरा पड़ने से हुआ. Kapil Dev और कई साथी खिलाड़ियों ने शोक प्रकट किया है.

Yashpal Sharma क्रिकेट और वर्ल्ड कप

यशपाल शर्मा का क्रिकेट कैरियर 7 साल लंबा है. लुधियाना जिले में जन्मे, दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हुए, उन्होंने देश के लिए 42 इंटरनेशनल वनडे मैच खेले थे. उनके नाम एक अनोखा रिकॉर्ड भी है. कोई भी गेंदबाज उन्हें एकदिवसीय मैच में शून्य पर आउट करके पवेलियन वापस नहीं भेज सका. अपने 7 साल लंबे वनडे  करियर में उन्होंने कभी शतक तो नहीं जड़ा, मगर हां,अपने बल्ले से चार अर्धशतक जरूर ठोंके.

1983 के वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में उन्होंने 61 रन की महत्वपूर्ण पारी खेलकर भारत को फाइनल में पहुंचाया था. 37 टेस्ट मैच खेलने वाले इस क्रिकेटर ने, क्रिकेट के इस फॉरमैट में 9 अर्धशतक और 2 शतक जड़े थे. वे गेंदबाजी भी किया करते, पर गेंद से ज्यादा कमाल नहीं दिखा सके.

Yashpal Sharma ने 1938 में पाकिस्तान के खिलाफ पहला मैच खेला था और, 1985 में जिंदगी का आखिरी मैच खेला था.

आपको बता दें कि 1983 के वर्ल्ड कप पर जो फिल्म बन रही है, उसमें Yashpal Sharma का किरदार जतिन सरना निभा रहे हैं. Sacred Games में बंटी का किरदार निभाने वाले इस एक्टर ने  इंस्टाग्राम पर पोस्ट करके इस बात की जानकारी दी थी.

उन्होंने बादाम शॉट का आविष्कार किया था. Yashpal Sharma के बारे में बात करते हुए Kapil Dev की  आंखों में आंसू उमड़ आएं. यह संजोग कहिए या कुछ भी, वे Dilip Kumar के बहुत बड़े फैन थे. यह भी कहा जाता है कि Dilip Kumar ने उनके कैरियर को संवारा था, और अब Dilip Kumar के निधन के कुछ दिन बाद इनका भी निधन हो गया. क्रिकेट खेलने के बाद उन्होंने राष्ट्रीय टीम के लिए चयनकर्ता की भी भूमिका निभाई थी.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com