National Education Policy: नया स्लेबस विकसित करने के लिए बनाई कमेटी

National Education Policy: नया स्लेबस विकसित करने के लिए बनाई कमेटी

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को स्कूल, प्रारंभिक बचपन, शिक्षक और वयस्क शिक्षा के लिए नए स्लेबस विकसित करने के लिए 12 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. इस कमेटी को चार राष्ट्रीय स्लेबस ढांचे विकसित करने का काम सौंपा गया है. इस कमेटी की अध्यक्षता, National Education Policy 2020 की मौजूदा कमेटी के अध्यक्ष, कस्तूरी रंगन करेंगे. कस्तूरीरंगन पूर्व ISRO प्रमुख भी रह चुके हैं.

 यह पांचवां NCF होगा, जो 16 साल के अंतराल के बाद आएगा. इसी के बीच National Education Policy में बताए गए सुधारों पर भी काम होगा. यह जानकारी शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा साझा की गयी है.

कमेटी, राज्य के स्लेबस ढांचे से इनपुट लेने वाले चार क्षेत्रों के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेगी. इसमें राष्ट्रीय फोकस समूहों द्वारा अंतिम रूप में दिए गए "स्थिति पत्रों" पर भी बातचीत की जाएगी.

 अधिकारियों के अनुसार, National Education Policy के नए स्लेबस का विकास, ऊपर से नीचे की कवायद नहीं होगी, और NCF को लागू करने से पहले, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के अपने स्वयं के स्लेबस के साथ आने के बाद इसे जिला स्तर पर लागू करने पर विचार-विमर्श किया जाएगा. उन्होंने कहा, कि NCF को विकसित करते समय कमेटी कोविड-19 जैसी स्थितियों के प्रभावों पर भी विचार करेगी.

National Education Policy की कमेटी विभिन्न हितधारकों जैसे राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) और केंद्रीय सलाहकार बोर्ड की कार्यकारी कमेटी और सामान्य निकाय (GB) की बैठकों में प्राप्त सुझावों को शामिल करने के बाद NCF को अंतिम रूप देगी. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार,"राष्ट्रीय संचालन कमेटी का कार्यकाल, तीन साल का होगा. NCERT के डायरेक्टर अपने मॉड्यूल को पूरा करने के लिए एससी की सहायता करेगा."

इस कमेटी के प्रमुख सदस्यों में राष्ट्रीय शिक्षा योजना एवं प्रस्थान संस्थान के चांसलर, महेश चंद्र पंत के साथ नेशनल बुक ट्रस्ट के अध्यक्ष गोविंद प्रसाद शर्मा को सम्मिलित किया गया है. इतना ही नहीं, इस कमेटी में जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के कुलपति, नजमा अख्तर भी शामिल हैं. दक्षिण भारत की तरफ से केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय के कुलपति, टीवी कट्टी मणि भी इस कमेटी के प्रमुख सदस्य हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com