Chhattisgarh news: 4 नए जिले, 18 नई तहसीलें, हेल्प लाइन 112 का भी होगा विस्तार

Chhattisgarh news:  4 नए जिले, 18 नई तहसीलें, हेल्प लाइन 112 का भी होगा विस्तार

Chhattisgarh के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बधाई देते हुए राज्य में चार नए जिलों  के साथ 18 नई तहसीलों को बनाए जाने की घोषणा की है. 

Chhattisgarh के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में चार नए जिलों (मोहला-मानपुर, शक्ति, सारनगढ़-बिलाईगढ़ और मनेंद्रगढ़) और 18 नई तहसीलों के गठन की घोषणा की है. यह घोषणा, 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर की गई है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां पुलिस परेड ग्राउंड में झंडा फहराने के बाद जनता को संदेश दिया। इस संदेश में राजस्व संबंधी जटिल कार्यों से राहत के लिए लैंड ट्रांसफर प्रक्रिया को सरल बनाने की घोषणा भी की गयी.

उन्होंने Chhattisgarh के सभी जिला मुख्यालयों और नगर निगमों में प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता और पूर्व सांसद, 'मिनिमाता' के नाम पर महिलाओं के लिए उद्यान विकसित करने की घोषणा भी की है. उन्होंने कहा, कि शहरी क्षेत्रों में लागू की जा रही 'मुख्यमंत्री सस्ती दवा योजना' का नाम बदलकर 'श्री धनवंतरी योजना' कर दिया गया है.

इसके अलावा, बिजली कंपनियों में विभिन्न पदों पर 2500 से अधिक कर्मियों की भर्ती और Chhattisgarh में 'डायल 112' सेवा के विस्तार की घोषणा भी की गई है. मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि पर कब्जा करने वाले लोगों को अधिकार प्रदान करने के लिए स्वामीत्व योजना शुरू करने की भी घोषणा की है.

नवा Chhattisgarh बनाने का है सरकार का लक्षय

उन्होंने पिछले तीन वर्षों से 'नवा Chhattisgarh' के निर्माण के लिए उठाए जा रहे कदमों पर प्रकाश डाला. उन्होंने कहा, कि स्थानीय संसाधनों और स्थानीय लोगों की भागीदारी से गांवों और शहरों के बीच विकास की खाई को पाटा जा सकता है.

मुख्यमंत्री ने धान की खरीद और राज्य के किसानों के लाभ के लिए शुरू की गई विभिन्न योजनाओं पर भी प्रकाश डाला. उन्होंने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना पर बात की, जहां लगभग 10 लाख मजदूरों को 6,000 रुपये का वार्षिक अनुदान प्रदान किया जाएगा.

शिक्षा को बढावा देने के लिए  उन्होंने Chhattisgarh के कॉलेजों में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयु-सीमा को माफ करने की घोषणा की है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com