एलआईसी आईपीओ पर रोक लगाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, सरकार को दिया ये नोटिस

एलआईसी आईपीओ पर रोक लगाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, सरकार को दिया ये नोटिस

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने गुरुवार, 12 मई को भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के आईपीए (IPO) की चल रही प्रक्रिया पर, रोक लगाने से इनकार कर दिया. ऐसे में ये साफ हो गया है, कि एलआईसी आईपीओ के अलॉटमेंट में, अब किसी भी तरह की बाधा नहीं आएगी. वहीं जिन लोगों ने एलआईसी आईपीओ के लिए बिड किया है और अगर वो कंपनी के शेयर बैंड में आते हैं, तो उन्हें भी यह आईपीओ मिलेगा.

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने वित्त अधिनियम 2021 और एलआईसी अधिनियम की धाराओं के प्रावधानों की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर, केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है. यह फैसला, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud), सूर्यकांत (Surya Kant) और पीएस नरसिम्हा (PS Narasimha) की बेंच ने लिया है.

आपको बता दें, कि याचिकाकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके, सरकार के उस फैसले को चुनौती दी थी, जिसमें एलआईसी आईपीओ लाने के बिल को मनी बिल के तौर पर पेश किया गया था. वहीं इस मामले में एडिशनल सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया, केंद्र सरकार की ओर से कोर्ट में पेश हुए और उन्होंने कहा, कि यह भारत के इतिहास में अबतक का सबसे बड़ा आईपीओ है. उन्होंने कहा, कि 73 लाख से अधिक लोगों ने इसके लिए बिड किया है और 22.13 करोड़ रुपये शेयर को 939 रुपये के प्रीमियम पर बेचा गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि एलआईसी आईपीओ 17 मई, 2022 को शेयर बाज़ारों में नियामक मंज़ूरी के अधीन लिस्टेड होगा. वहीं इसके अंतिम दिन के इश्यू को 2.95 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है, जिसे निवेशकों की अच्छी प्रतिक्रिया के रूप में देखा जा रहा है. हालांकि, इसमें फॉरेन इंस्टीट्यूशन्ल इनवेस्टर्स (FII) की भागीदारी कम रही.

इसके साथ ही, 16.2 करोड़ इक्विटी शेयरों के आईपीओ आकार के मुकाबले, 47.83 करोड़ इक्विटी शेयर प्राप्त हुए. वहीं पॉलिसीधारक बकेट को 6.11 गुना सब्सक्राइब किया गया है, जबकि कर्मचारियों के हिस्से में 4.39 गुना बोली लगाई गई है. रिटेल निवेशकों की बोली को 1.99 गुना और गैर-संस्थागत निवेशकों के हिस्से को, 2.91 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है. देश का सबसे बड़ा एलआईसी आईपीओ, रिटेल और अन्य निवेशकों के सब्सक्रिप्शन के लिए, 4 मई को खुला था और 9 मई को बंद हुआ था. इसके शेयरों का आवंटन आज, गुरुवार को किया जाएगा.

Related Stories

No stories found.