Sri Lanka Crisis: खाना और पानी के बाद क्या लंका में अब ईंधन मचाएगा हाहाकार?

Sri Lanka Crisis: खाना और पानी के बाद क्या लंका में अब ईंधन मचाएगा हाहाकार?

पिछले एक महीने से भी ज़्यादा समय से श्रीलंका (Sri Lanka) आर्थिक संकट की मार झेल रहा है. कहीं खाना और पानी के लिए, तो कहीं पेट्रोल-डीज़ल के लिए लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहे है. इसी के चलते, श्रीलंका की मदद के लिए भारत ने हाथ बढ़ाया था. मगर इसके बावजूद ये खबर आ रही है, कि अप्रैल के अंत तक श्रीलंका में ईंधन खत्म होने की संभावना है.

गौरतलब है, कि भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में आर्थिक संकट के चलते हाहाकार मचा हुआ है. लोग हफ्तों से अपनी ज़रूरतों, जैसे खाना, पानी, बिजली आदि के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. श्रीलंका की जनता में इस वक़्त श्रीलंकाई सरकार के प्रति आक्रोश भरा है. वहीं श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) की केबिनेट के करीबन सभी मंत्रियों ने अपना इस्तीफा भी दे दिया, लेकिन इसके बावजूद राष्ट्रपति शासन अब भी कायम है.

खबरों के अनुसार, भारत से श्रीलंका को ईंधन भेजने की शुरुआत 1 अप्रैल से होने वाली थी. मगर बिगड़ते हालातों और आपातकालीन को देखते हुए, ईंधन भेजने की तारीख को मार्च कर दिया गया. वहीं 15, 18 और 23 अप्रैल को भारत से श्रीलंका के लिए से ईंधन लेकर, कई जहाज़ रवाना होंगे. गौरतलब है, कि श्रीलंका में ईंधन भारी मात्रा में सार्वजनिक यातायात और थर्मल पावर से बिजली बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

इसके अलावा, श्रीलंका में इस समय ईंधन की कमी होने के चलते, बिजली की भी भारी कटौती हो रही है. इसके चलते, श्रीलंका की पूरी अर्थव्यवस्था ठप्प पड़ चुकी है और लोग खाना, पानी, बिजली आदि जैसी चीज़ों के लिए तरस रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि श्रीलंका की जनता के मन में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और उनके भाई व वित्त मंत्री बासिल रोहाना राजपक्षे (Basil Rohana Rajapaksa) के लिए ज़बरदस्त गुस्सा है. इसी के चलते, श्रीलंका में लोग विरोध प्रदर्शन करके, राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com