Retail Inflation News: फिर टूटा रिकॉर्ड, अगस्त के मुकाबले यहां पंहुचा स्तर

Retail Inflation News: फिर टूटा रिकॉर्ड, अगस्त के मुकाबले यहां पंहुचा स्तर
jayk7

साल 2022 का सितंबर महीना, भारत की खुदरा मुद्रास्फीति (Retail Inflation) के लिए एक बार फिर बुरा साबित हुआ है. इस दौरान, यह 5 महीने के अपने उच्चतम स्तर 7.41% पर देखा गया, जो अगस्त में 7.00% था. आपको बता दें, कि भारत की खुदरा मुद्रास्फीति को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (Consumer Price Index) यानी सीपीआई (CPI) द्वारा मापा जाता है.

खुदरा मुद्रास्फीति में देखी जा रही इस उछाल की वजह से फ़िलहाल सीपीआई, जो वर्तमान में केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के 2% से 6% लक्ष्य बैंड से ऊपर मँडरा रहा है, उसने पिछले 1 दशक में थोक माप के साथ बहुत कम संबंध दिखाया है. वहीं, कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (Ministry of Statistics & Programme Implementation) द्वारा जारी 2 अलग-अलग आंकड़ों में दिखाया गया है, कि औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (Index of Industrial Production) के माध्यम से मापा गया भारत का कारखाना उत्पादन भी -0.8% कम हुआ है.

मौजूदा जानकारी के मुताबिक, यह लगातार 9वीं बार है जब सीपीआई, भारतीय रिजर्व बैंक के ऊपरी मार्जिन से ऊपर आया है. इसके साथ ही, भारत सरकार ने केंद्रीय बैंक को मार्च 2026 को समाप्त होने वाली 5 साल की अवधि के लिए खुदरा मुद्रास्फीति को 4% पर 2% के मार्जिन के साथ बनाए रखने का लक्ष्य दे दिया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि खुदरा मुद्रास्फीति में आई इस हलचल से भारतीय बाज़ार हर तरह से प्रभावित हो रहा है. ऐसे में, सब्जियों के दाम सितंबर में साल भर के मुकाबले 18.05% बढ़े, तो वहीं मसालों में 16.88%, अनाज और उत्पादों में 11.53% और दूध से जुड़े उत्पाद में 7.13% की तेजी देखी गई. इसके अलावा, खाद्य और पेय पदार्थों ईंधन और लाइट सेगमेंट में 10.39%, कपड़े और जूते में 10.17% और आवास में 4.57% की तेजी आई है.

Image Source

यह भी पढ़ें: Wipro Q2 Results: शुद्ध लाभ 9% घटकर 2660 करोड़, राजस्व 14.6% बढ़ा

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com