LIC Jeevan Akshay Plan: हर महीने मिलेंगे 20,000 रुपये? पढ़ें पूरी रिपोर्ट

LIC Jeevan Akshay Plan: हर महीने मिलेंगे 20,000 रुपये? पढ़ें पूरी रिपोर्ट
Bloomberg

भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation) यानी एलआईसी (LIC), निवेशकों को उनके रिटायरमेंट को सुरक्षित करने की अनुमति देने वाली कई विभिन्न नीतियां प्रदान करता है. इसमें काफ़ी सारे प्रभावशाली रिटर्न के अलावा, निवेशकों को पॉलिसी के माध्यम से टैक्स बचाने के विकल्प मिलते हैं.

अपनी ज्यादातर योजनाओं में एलआईसी, निवेशकों को उनके रिटायरमेंट के लिए एक कार्पस यानी कोष बनाने के लिए थोड़ी बचत शुरू करने का आग्रह करता है. हालांकि, एलआईसी से जुड़ी जीवन अक्षय योजना (LIC Jeevan Akshay Plan) में ग्राहकों को मासिक पेंशन का आनंद लेने के लिए सिर्फ एक बार एक निश्चित राशि का निवेश करना होता है.

जीवन अक्षय योजना में आपका निवेश, एलआईसी द्वारा आपके पैसे से पर्याप्त ब्याज प्राप्त करने के बाद, एक निर्धारित अवधि के बाद मासिक या तीन-मासिक या वार्षिक आय अर्जित करना शुरू कर देता है. अब अगर आप 30 से 85 वर्ष की उम्र के हैं, तो आप जीवन अक्षय पॉलिसी ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते हैं और वहीं न्यूनतम निवेश 1 लाख रुपये है.

एलआईसी जीवन अक्षय पॉलिसी,10 से अधिक उपलब्ध वार्षिकी विकल्प प्रदान करता है. इस पॉलिसी लेने की शुरुआत में ही पॉलिसीधारक को एक गारंटीकृत वार्षिकी दर मिलती है. गौरतलब है, कि आपके द्वारा चुने गए विकल्प के आधार पर निवेश का रिटर्न थोड़ा अलग होता है.

अब जैसे अगर एक निवेशक ने जीवन अक्षय पॉलिसी में एक बार में 9,16,200 रुपये जमा किए, तो मोटे तौर पर निवेश लगभग 9 लाख रुपये है. इसके बाद, निवेशकों को उनके निवेश से रिटर्न के रूप में प्रति माह 6,859 रुपये मिलेंगे. इसी तरह उन्हें सालाना 86,265 रुपये या छमाही आधार पर 42,008 रुपये या तिमाही आधार पर 20,745 रुपये मिलेंगे. 

इस तरह, अगर आप हर महीने 20,000 रुपये पेंशन लेना चाहते हैं तो आपको करीब 40 लाख रुपये का निवेश करना होगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि एलआईसी के अलावा एचडीफसी (HDFC), आईसीसीआई (ICICI) जैसी और भी कंपनिया ऐसी बहुत सी योजनाएं निवेशकों के लिए समय-समय पर लॉन्च करती रहती हैं. 

Image Source

यह भी पढ़ें: Tata Group Merger News: विस्तारा और एयर इंडिया के लिए खास होगा मार्च 2024

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com