IT Raid on Hero Motocorp: कंपनी के 1,000 करोड़ से ज़्यादा के खर्च फ़र्ज़ी, ऐसे हुआ खुलासा

IT Raid on Hero Motocorp: कंपनी के 1,000 करोड़ से ज़्यादा के खर्च फ़र्ज़ी, ऐसे हुआ खुलासा

आयकर विभाग को मिली जानकारी के अनुसार, हीरो मोटोकॉर्प (Hero Motocorp) ने दिल्ली के छतरपुर में एक फार्महाउस के लिए 1000 करोड़ रूपए से अधिक फर्जी खर्च किये और 100 करोड़ रूपए से अधिक का नकद लेनदेन किया है. आपको बता दें, कि आयकर विभाग ने 23 मार्च को हीरो मोटोकॉर्प के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, पवन मुंजाल के दिल्ली एनसीआर में कई स्थानों पर तलाशी और जब्ती अभियान चलाया, जो 26 मार्च को समाप्त हुआ था.

आयकर विभाग की ओर से शुरू हुए इस तलाशी अभियान में, दिल्ली एनसीआर के विभिन्न स्थानों पर मौजूद 40 से अधिक परिसरों पर छापा मारा गया है.

फ़िलहाल सूत्रों के हवाले से यह जानकारी भी सामने आई है, कि आयकर विभाग की इस तलाशी अभियान के दौरान, कई महत्वपूर्ण चीज़े हासिल हुई है. इनमें हार्ड कॉपी दस्तावेज और डिजिटल डेटा के रूप में बड़ी संख्या में आपत्तिजनक सबूत जब्त हुए हैं. वहीं इन्हीं सबूतों के माध्यम से विभाग ने यह निष्कर्ष निकाला है, कि हीरो मोटोकॉर्प ने फिजूलखर्ची की है.

गौरतलब है, कि आयकर अधिनियम की धारा 269 SS के अनुसार, अचल संपत्ति का लेन-देन करते समय, 100% जुर्माना लगाया जाता है. मगर नियम यह है, कि यदि विक्रेता ने खरीदार से 20,000 रूपए या उससे अधिक की राशि नकद में स्वीकार की है.

वहीं पिछले हफ्ते हीरो मोटोकॉर्प के प्रमोटरों के कार्यालयों और आवासीय परिसरों पर छापे मारे गए थे. इस तलाशी में पवन मुंजाल के आवासीय और आधिकारिक परिसर भी शामिल रहा. इसके साथ ही, जहां तलाशी ली जा रही है, वहां मौजूद लोगों के बयान दर्ज किए गए और पंचनामा किया गया है.

दरअसल हीरो मोटोकॉर्प से जुड़ा असल मामला यह है, कि पवन मुंजाल ने छतरपुर में एक फार्महाउस खरीदा था. इसके बाद टैक्स बचाने के लिए फार्म हाउस के बाज़ार मूल्य में हेरफेर किया गया और काले धन का इस्तेमाल 100 करोड़ रूपए से अधिक नकद भुगतान करने के लिए किया गया, जो कि आईटी अधिनियम की धारा 269 SS का उल्लंघन है.

फ़िलहाल हीरो मोटोकॉर्प पर आयकर विभाग के छापे की खबर के साथ ही, इस कंपनी के शेयर भी एकदम से नीचे की तरफ लुढ़क गए हैं. आपको बता दें, कि कंपनी का कारोबार लगभग 40 से अधिक देशों में फैला है. वहीं कंपनी टू व्हीलर मैन्युफैक्चरिंग की सबसे बड़ी कंपनी है, जिसके पास वैश्विक बेंचमार्क वाले आठ मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है. गौरतलब है, कि इन 8 प्लांट में से 6 प्लांट भारत में मौजूद हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com