IRCTC Share Price: स्टॉक्स की कीमत में नज़र आई 8 प्रतिशत गिरावट, सामने आई ये वजह

IRCTC Share Price: स्टॉक्स की कीमत में नज़र आई 8 प्रतिशत गिरावट, सामने आई ये वजह

आज 29 अगस्त 2022 की सुबह, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRCTC) के स्टॉक्स में 8% से अधिक की गिरावट देखी गई थी. माना जा रहा है, कि रेलवे की टिकट शाखा ने भारतीय रेलवे से सम्बंधित डेटा के मुद्रीकरण के लिए सलाहकार की नियुक्ति वाली अपनी ई-निविदा को वापस ले लिया है. यही वजह है, कि यह स्टॉक्स आज शेयर बाज़ार में लाल निशान पर देखे गए.

आज बीएसई पर आईआरसीटीसी का यह शेयर 6.05% की गिरावट के साथ 675 रूपए पर खुला था. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि यह बीएसई पर 718.50 रूपए के पिछले बंद के मुकाबले, आज 8.14 % की गिरावट के साथ 660 रूपए पर था. इसी के साथ, कंपनी का मार्केट कैप बीएसई पर गिरकर 55,324 करोड़ रूपए पहुंच गया.

आईआरसीटीसी के शेयर 20 दिन, 50 दिन और 100 दिन के मूविंग एवरेज से ऊपर थे, लेकिन 5 दिन और 200 दिन के मूविंग एवरेज से कम पर कारोबार कर रहे हैं. वहीं, इस साल की शुरुआत से इसके शेयर की कीमत में 16.97% की गिरावट आई और एक साल में 30.39% की तेजी. फ़िलहाल, बीएसई पर iइसके कुल 2.54 लाख शेयरों का कारोबार 17.45 करोड़ रूपए के कारोबार में बदल चुका है.

आईआरसीटीसी ने एक्सचेंजों को कहा है, कि “यह सूचित किया जाता है, कि भारत सरकार द्वारा व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक 2018 को वापस लेने के कारण, आईआरसीटीसी द्वारा 29 जुलाई, 2022 को जारी किए गए भारतीय रेलवे/आईआरसीटीसी के डेटा मुद्रीकरण के लिए सलाहकार की नियुक्ति के लिए उपरोक्त संदर्भित ई-निविदा वापस ले लिया गया है.”

गौरतलब है, कि संचार और सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति ने आईआरसीटीसी के रुख की मांग की थी, क्योंकि वह इस कदम के माध्यम से संभावित डेटा गोपनीयता उल्लंघनों से चिंतित थे. यह पूरा मामला तब शुरू हुआ, जब पिछले हफ्ते आईआरसीटीसी ने अपने ग्राहक और विक्रेता एप्लिकेशन डेटा का उपयोग कर के, सरकारी और निजी कंपनियों के साथ व्यापार करने के लिए एक सलाहकार को नियुक्त करने की मांग की. उनकी तरफ से यह उम्मीद जताई गई, कि ऐसा कर के 1,000 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हो सकता है.

Image Source


यह भी पढ़ें: Apple iPhone 14: इस दिवाली चीन से टकराएगा भारत, गूंजेगा ‘मेड इन इंडिया’ का शोर

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com