भारतीय डाक ने शुरू की NPS की ऑनलाइन सेवा, जानें इस योजना से जुड़ने का तरीका

भारतीय डाक ने शुरू की NPS की ऑनलाइन सेवा, जानें इस योजना से जुड़ने का तरीका

भारतीय डाक (India Post) ने अपने ग्राहकों के लिए एक बेहतरीन सेवा का ऐलान किया है. अगर पोस्ट ऑफिस गए बगैर, नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपके लिए राहत भरी खबर है. दरअसल, अब कोई भी व्यक्ति, घर या दफ्तर में बैठकर एनपीएस योजना के साथ जुड़ सकता है. डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट, यानी पोस्ट ऑफिस ने एनपीएस स्कीम सर्विस को ऑनलाइन करने का फैसला लिया है.

जिससे आप, बगैर पोस्ट ऑफिस का चक्कर लगाये, पेंशन सेवा का लाभ प्राप्त कर सकते हैं. आपको बता दें, कि डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट 2010 से फिजिकल मोड में नेशनल पेंशन स्कीम उपलब्ध कराता रहा है. लेकिन, 26 अप्रैल 2022 से सभी नागरिकों को नेशनल पेंशन स्कीम ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएगी. आपको बता दें कि एनपीएस, सरकार द्वारा चलाई जा रही एक कंट्रीब्यूटरी पेंशन स्कीम है, जिसमें कोई भी लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकता है. इस योजना में निवेश करने से लोगों को रिटायरमेंट पर एक बड़ा फंड और पेंशन मिलता रहेगा.

इस तरह से जुड़ें एनपीएस ऑनलाइन सेवा से

ऑनलाइन सेवा के लिए कोई भी नागरिक, जिसकी उम्र 18 से 70 वर्ष के बीच है, वो इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं. आप निम्नलिखित तरीके से इस सेवा से जुड़ सकते हैं.

  • सबसे पहले आपको भारतीय डाक की आधिकारिक वेबसाइट www.indiapost.gov.in पर जाना होगा.

  • इसके बाद वेबसाइट पर नेशनल पेंशन सिस्टम का विकल्प दिया गया होगा, जिस पर क्लिक करना होगा.

  • जिसके बाद ऊपर की ओर, दाईं तरफ़ दिए गए ऑनलाइन सर्विसेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा.

  • ऑनलाइन सर्विसेज पर क्लिक करने के बाद सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिया हुआ होगा, जिसमें आप अपनी महत्वपूर्ण जानकारी भरकर, सेवा का लाभ ले सकते हैं.

एनपीएस सेवा से इन चीजों का ले सकते हैं लाभ

1. एनपीएस में मिलती है टैक्स छूट:

एनपीएस में निवेश करने पर निवेशक को टैक्स में छूट मिलती है. दरअसल, इनकम टैक्स की धारा 80 सी के तहत कोई भी निवेशक टैक्स में छूट का दावा कर सकता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि इनकम टैक्स की धारा 80 सी में किसी भी व्यक्ति को टैक्स में 1.5 लाख रुपए की छूट मिलती है. एनपीएस में कई अलग-अलग तरह की निवेश के विकल्प हैं, जिसमें निवेशक को काफी अच्छा रिटर्न भी मिलता है.

2. आराम के साथ लचीलापन

एनपीएस स्कीम के तहत निवेशक उनकी सुविधा के अनुसार, किसी भी समय और किसी भी राशि का योगदान कर सकते हैं. साथ ही, इसमें कोई कितना निवेश कर सकता है, इसकी कोई ऊपरी सीमा भी नहीं है.

3. पति-पत्नी साथ में नामांकन कर सकते हैं

स्व-व्यवसायी पति पत्नी के जोड़े जो अपना पारिवारिक व्यवसाय चलाते हैं, वे अलग-अलग एनपीएस खाते खोल सकते हैं. साथ ही, टैक्स में छूट प्राप्त कर सकते हैं. एवं व्यवसाय खत्म होने पर पेंशन भी प्राप्त कर सकते हैं.

4. कर्मचारियों के लिए फायदेमंद

एनपीएस को अपने कर्मचारियों के लिए बढ़ाया जा सकता है, ताकि, वे जिसके लिए काम कर रहे हैं, उसके प्रति और वफादारी को प्रोत्साहित कर सकें. इससे न केवल कर्मचारियों का भविष्य सुरक्षित होगा, बल्कि रोजगार भी सुरक्षित होगा.

5. एंटरप्रेन्योर के लिए फायदेमंद

यह योजना एंटरप्रेन्योर के लिए भी फायदेमंद है. दरअसल, जब किसी एंटरप्रेन्योर का बिजनेस ख़त्म होने पर आ जाता है, तब वे इस योजना से भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं. क्योंकि, कोई भी एनपीएस में योगदान करके अपनी पेंशन सुरक्षित कर सकता है.

Related Stories

No stories found.