Amul दूध की कीमत में हुई बढ़ोतरी से क्या उत्पादकों को होगा लाभ ?

Amul दूध की कीमत में हुई बढ़ोतरी से क्या उत्पादकों को होगा लाभ ?

Amul ब्रांड के दूध और दुग्ध उत्पादों की कीमतों का संशोधन करने वाली सहकारी GCMMF ने इनपुट लागत में वृद्धि के कारण आज से दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की है. इस कीमत वृद्धि का सबसे अधिक प्रभाव आम जनता पर ही पड़ता है.

Gujarat Cooperative Milk Marketing Federation (GCMMF) ने एक बयान में कहा, कि उन्होंने सम्पूर्ण भारतीय बाजारों में दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि करने का फैसला किया है. इसलिए Amul, दूध की कीमतों का संशोधन कर रहा है, जो 1 मार्च से प्रभावी है. 2 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि MRP में 4% की वृद्धि में तब्दील होती है, जो औसत खाद्य मुद्रास्फीति से काफी कम है".

GCMMF का कहना है, कि कीमत में हुई बढ़ोतरी से दूध उत्पादकों को भी दूध की कीमतें उनके मुनाफे के आधार पर दी जा सकेगी और उन्हें ज्यादा दूध उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करने में मदद मिल सकेगी. इस बढ़ोतरी के बाद Amul गोल्ड मिल्क की कीमत 30 रुपये प्रति 500ml, Amul ताजा की कीमत 24 रुपये प्रति 500ml और Amul शक्ति की कीमत 27 रुपये प्रति 500ml हो जाएगी.

Amul कंपनी के द्वारा इस वृद्धि को लेकर यह बयान दिया गया है, कि "कीमत में वृद्धि ऊर्जा पैकेजिंग, पशु आहार लागत के साथ-साथ रसद में हुई कीमतों की बढ़ोतरी की वजह से की जा रही है. इन सब चीजों की कीमत में बढ़त हुई है, इसी वजह से दूध की कीमत में भी बढ़ोतरी हुई है. यह सब चीजें इनपुट में आती है. अब इनपुट लागत में अगर वृद्धि होगी तो हमें दूध की कीमत में कुछ इजाफा तो करना होगा".

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Amul कंपनी जिन दूध उत्पादकों से दूध लेती है, उन लोगों को कंपनी के द्वारा प्रत्येक एक रुपया कमाने के पीछे 80 पैसे का भुगतान किया जाता है.

Related Stories

No stories found.