Investment Tips: साल 2023 में स्टॉक निवेशकों के लिए ये होगी 5 निवेश थीम

Investment Tips: साल 2023 में स्टॉक निवेशकों के लिए ये होगी 5 निवेश थीम
Chee Siong Teh

सभी वैश्विक चिंताओं के बीच भारतीय इक्विटी बाजार ऊंचे मूल्यांकन स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं, निवेशकों इन्वेस्टमेंट (Investment) को लेकर ऐसी उम्मीद है, कि लचीली भारतीय अर्थव्यवस्था और मजबूत घरेलू प्रवाह को देखते हुए निफ्टी 2023 में नई ऊंचाई हासिल करेगा. मौजूदा जानकारी के मुताबिक, निफ्टी अगले एक साल में 18000 के स्तर से नीचे जा चुका है और सबसे आशावादी बुल इंडेक्स के 20000 अंक के पार जाने की उम्मीद है.

मिली जानकारी के मुताबिक, ग्लोबल ब्रोकरेज बोफा सिक्योरिटीज (BofA Securities) ने 19500 का निफ्टी लक्ष्य बनाया है. इसके लिए, मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) 2023 में सेंसेक्स को 68500 पर देख रहा है. वहीं, साल 2023 में देखने के लिए कुछ ख़ास थीम पर भी फोकस किया जा सकता है. 

1. समृद्ध खपत

ग्लोबल ब्रोकरेज बीएनपी परिबास (BNP Paribas) ने कहा है, कि शहरी क्षेत्रों और सेवा क्षेत्रों में मजबूत शहरी आय के साथ-साथ मजबूत रोजगार सृजन से अधिक संपन्न लोगों के बीच मजबूत खपत भावना पैदा होगी. वहीं, ब्रोकरेज के पोर्टफोलियो के शेयरों में मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki), एमएंडएम (M&M), सन फार्मास्युटिकल (Sun Pharmaceutical), फोर्टिस हेल्थकेयर (Fortis Healthcare) और भारती एयरटेल (Bharti Airtel) शामिल हैं.

2. बुनियादी ढांचे में वृद्धि

बोफा ने कहा है, कि निवेशकों के लिए नए अवसरों को उपलब्ध कराना भारत सरकार की पहल है जो परिवहन, स्वच्छता पहुंच, रसोई गैस, बिजली पहुंच, नल जल कवरेज, पाइप्ड गैस और किफायती आवास जैसे क्षेत्रों में बुनियादी ढांचा क्षमता बढ़ाने के लिए है.

3. कैपेक्स साइकिल

बाज़ार से जुड़े विश्लेषकों का कहना है, कि भारत के कई साल के पूंजीगत खर्च साइकिल के शीर्ष पर होने के कारण औद्योगिक शेयरों को फायदा हो सकता है. वहीं, रिधम देसाई (Ridham Desai) सहित मॉर्गन स्टेनली के विश्लेषकों ने कहा, "मजबूत सरकारी कैपेक्स और निजी कैपेक्स में एक नवजात पिकअप और सस्ती वैल्यूएशन हमारे निवेश और बाज़ार को बढ़ाते हैं."

4. डिजिटलीकरण और वित्तीय समावेशन 

मजबूत ऋण वृद्धि और एक प्रबंधनीय गैर-निष्पादित ऋण पोर्टफोलियो के बीच विदेशी निवेशकों ने नवंबर में इस क्षेत्र में 14,205 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया है. ऐसे में, यह निवेशकों के लिए साल 2023 में अच्छा अवसर पेश कर सकता है. 

5. आपूर्ति श्रृंखला 

इक्विटी से जुड़े  रणनीति कर भारत के विनिर्माण क्षेत्र में चीन+1 रणनीति से आने वाले संरचनात्मक पुश और यूरोप में उभरते ऊर्जा संकट के कारण यूरोप+1 थीम के बढ़ने से उत्साहित हैं. कोटक म्यूचुअल फंड (Kotak Mutual Fund) के एमडी नीलेश शाह (Nilesh Shah) ने कहा है, कि "पीएलआई योजनाओं और अगले दशक में भारत के विनिर्माण क्षेत्र में वृद्धि देखी जा सकती है.”

Image Source


यह भी पढ़ें: Ashneer Grover Case Update: ‘भारत पे’ ने किया 88.6 करोड़ रुपये का दावा

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com