Bharatiya Janata Party: दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ़ भाजपा कार्यकर्ताओं का ‘चक्का जाम’

Bharatiya Janata Party: दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ़ भाजपा कार्यकर्ताओं का ‘चक्का जाम’

Bharatiya Janata Party के कार्यकर्ताओं ने आज, दिल्ली सरकार की आबकारी नीति के खिलाफ चक्का जाम करके आंदोलन छेड़ दिया है. इस चक्का जाम का सबसे ज़्यादा असर, अक्षरधाम मंदिर मार्ग पर देखने को मिला. इस आंदोलन में Bharatiya Janata Party के कार्यकर्ता, Arvind Kejriwal सरकार से उनकी आबकारी नीति को हटाने की मांग कर रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, पिछले साल नवंबर में लागू हुई दिल्ली की नई आबकारी नीति के मुताबिक, अब शराब का कारोबार पूरी तरह से निजी कारोबारियों के हाथ में है. नए शासन के तहत, शहर में 850 शराब की दुकानें होंगी, जहां लोग शॉपिंग मॉल की तरह अपनी पसंद का ब्रांड चुन सकेंगे.

दिल्ली सरकार द्वारा लागू की गई इस नई आबकारी नीति के अंतर्गत, शराब की दुकानों को बदलकर कम से कम 500 वर्ग फुट क्षेत्र में फैली, स्टाइलिश शराब की दुकानों में वॉक-इन सुविधाओं के साथ बदलाव करना है. इन नई दुकानों पर लोगों के लिए शराब चखने की सुविधा भी विकसित की जाएगी, लेकिन यह नीति सड़कों और फुटपाथों पर लोगों की भीड़ के साथ ग्रिल्ड दुकानों के माध्यम से शराब बेचने पर भी रोक लगाती है.

इन सबके बीच, Bharatiya Janata Party और Congress समेत बहुत से विपक्षी दल, इस कदम के लिऐ Arvind Kejriwal सरकार की नींदा कर रहे हैं. Bharatiya Janata Party के कार्यकर्ताओं द्वारा, रविवार को तीनों नगर निगमों में नगरपालिका कानूनों का उल्लंघन करने वाली सभी शराब की दुकानों को सील कर दिया गया है. मौजूदा चक्का जाम, नई आबकारी नीति के खिलाफ भाजपा के विरोध के अनुरूप है.

Bharatiya Janata Party के कार्यकर्ताओं द्वारा दिए बयान के अनुसार, Aam Aadmi Party सरकार की नई आबकारी नीति से छुटकारा पाने के लिए लोग चक्का जाम को सहन करने के लिए तैयार हैं. अक्षरधाम मंदिर के अलावा, विकास मार्ग स्थित कार बाज़ार, दयाराम चौक और सिविल लाइंस में भी इस अंदोलन का काफ़ी असर देखने को मिल रहा है. प्रदर्शनकारियों ने Arvind Kejriwal सरकार और उसकी नई आबकारी नीति के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी भी की है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com