Bajaj Finserv News: स्टाॅक्स में 69 प्रतिशत की वृद्धि, निवेशकों की हुई बंपर कमाई

Bajaj Finserv News: स्टाॅक्स में 69 प्रतिशत की वृद्धि, निवेशकों की हुई बंपर कमाई

वित्तीय सेवाएं देने वाली कंपनी Bajaj Finserv शेयर बाज़ार में आज रिकॉर्ड स्तर पर कारोबार करने में कामयाब नज़र आ रही है. कंपनी को Security and Exchange Board of India (SEBI) से म्युचुअल फंड का कारोबार करने की मंज़ूरी मिलने के बाद से यह तेज़ी रुकने का नाम नहीं ले रही. इसके अलावा नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (NBFC) में शामिल Bajaj Finance के स्टाॅक्स पर भी बाज़ार मेहरबान दिखा. इस कारण निवेशकों की इस कंपनी के स्टाॅक्स से जमकर कमाई हो रही है.

कल 24 अगस्त को कंपनी ने यह जानकारी दी, कि कंपनी को SEBI से म्युचुअल फंड का कारोबार करने की अनुमति मिली गई है. इसके अलावा, Bajaj Finserv एक Asset Management Company (AMC) भी बनाएगी. जो SEBI के सभी नियमों और मापदंडों का ध्यान रखकर काम करेगी. इस ऐलान के बाद से कंपनी के स्टाॅक्स की जमकर खरीददारी देखी गई. वहीं बीते कुछ महीनों से कंपनी ओवर परफॉम्ड यानी अच्छे प्रदर्शन की श्रेणी में बनी हुई है. 

कहा जा रहा है, कि कंपनी ने अपने उपभोक्ताओं की रुचि को देखते हुए म्युचुअल फंड के क्षेत्र में जाने का फैसला लिया. जहां ग्राहकों को, फिक्स्ड डिपाजिट (FD) स्कीम से बेहतर मुनाफा मिलता है. एक अनुमान के मुताबिक, FD में मिलने वाले 6-7 प्रतिशत रिटर्न के मुकाबले, म्युचुअल फंड में 10-12 प्रतिशत का बड़ा रिटर्न है. जिसका फायदा आने वाले समय में Bajaj Finserv के ग्राहक भी उठा सकेंगे. 

शेयर बाज़ार में Bajaj Finserv का प्रदर्शन

अपने स्टाॅक्स में आए इस उछाल के बाद, कंपनी का बाज़ार पूंजीकरण 2.5 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया. वर्तमान समय में Bajaj Finserv, NSE पर 16,037.20 के स्तर पर कारोबार कर रही है. वहीं दूसरी ओर खबर लिखे जाने तक, BSE पर कंपनी का स्तर 16,027.10 था.

Bajaj Finserv अपने ग्राहकों को कई उत्पाद उपलब्ध कराती है. इसमें लोन, इंश्योरेंस, म्युचुअल फंड, पेमेंट, इ-कामर्स आदि उत्पाद शुमार हैं. Bajaj Finserv की हिस्सेदार कंपनियों में Bajaj Allianz Life, Bajaj Allianz General Insurance, Bajaj Finance और Bajaj Financial Solutions शामिल हैं. आपको बता दें, कि Bajaj Allianz निजी बीमा क्षेत्र की बड़ी कंपनियों में गिनी जाती है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com