Justice B.V Nagarathna: जानिए कौन है ये महिला, जो 2027 में बनेंगी भारत की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश

Justice B.V Nagarathna: जानिए कौन है ये महिला, जो 2027 में बनेंगी भारत की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश

देश की सबसे बड़ी अदालत यानी सुप्रीम कोर्ट से जुड़ा एक ऐतिहासिक फैसला आज लिया गया. राष्ट्रपति Ram Nath Kovind ने भारत के भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) के पद के लिए जस्टिस B.V Nagarathna के नाम पर मुहर लगा दी है. हालांकि, पुरुषों की तुलना में अब तक सुप्रीम कोर्ट में बहुत कम महिलाएं जज बनी हैं. लेकिन जस्टिस Nagarathna देश की सर्वप्रथम महिला मुख्य न्यायाधीश होंगी. सर्वोच्च न्यायालय में उनके अलावा 9 अन्य नए जजों की नियुक्ति की गई.

दरअसल, वर्तमान के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस N.V Ramana के अध्यक्षता वाले कोलेजियम की तरफ से भेजे गए सभी 9 नामों को केंद्र ने स्वीकृति दे दी थी. इसमें 3 महिला जजों का भी नाम शामिल है. सुप्रीम कोर्ट में कुल 34 पदों की नियुक्ति होती है. इन 33 नियुक्तियों के बाद सिर्फ एक ही पद खाली रह जाएगा. इन जजों में से भविष्य में जस्टिस Vikram Nath, जस्टिस B.V Nagarathna और जस्टिस P.S नरसिम्हा के देश के मुख्य न्यायाधीश बनने की संभावना है. अगर सब सही रहा, तो जस्टिस Nagarathna फरवरी 2027 से अपना कार्यभार संभालेंगी. हाल ही में जस्टिस Indu Malhotra के सेवानिवृत्त होने के बाद अब सुप्रीम कोर्ट में केवल एक ही महिला न्यायाधीश हैं. उनका नाम जस्टिस Indira Banerjee है, जो अगले साल सेवा से निवृत्त होंगी.

58 वर्षीय जस्टिस B.V Nagarathna का जन्म 30 अक्टूबर, 1962 में हुआ था. उन्होंने वकील के रूप में अपने करियर की शुरुआत बैंगलोर से की. वे अपने परिवार से दुसरी मुख्य न्यायाधीश होंगी. इससे पहले उनके पिता E.S Venkatramaiah साल 1989 में लगभग 6 महीनों के लिए भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त थे. उन्हें साल 2008 में अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में कर्नाटक उच्च न्यायालय में नियुक्त किया था. इसके दो साल बाद उनकी नियुक्ति स्थायी न्यायाधीश के रूप में हुई. अधिवक्ता के रूप में जस्टिस Nagarathna संवैधानिक, प्रशासकीय व वाणिज्यिक कानून से जुड़े मामले लड़ा करती थीं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि जस्टिस B.V Nagarathna के अलावा केंद्र को भेजे गए नामों में दो और महिला जजों का नाम शामिल था. इनमें एक नाम तेलंगाना उच्च न्यायालय की न्यायाधीश जस्टिस Hima Kohli का था और दूसरा गुजरात उच्च न्यायालय की न्यायाधीश जस्टिस Bela Trivedi का था. अब तक सर्वोच्च न्यायालय में केवल 8 महिला न्यायाधीश रही हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com