Atal Bihari Vajpayee Birthday: कवि से लेकर नेता तक हर ज़िम्मेदारी में निपुण थेपूर्व प्रधानमंत्री

Atal Bihari Vajpayee Birthday: कवि से लेकर नेता तक हर ज़िम्मेदारी में निपुण थेपूर्व प्रधानमंत्री

Atal Bihari Vajpayee का जन्म, 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक हिंदू परिवार में हुआ था. उनकी माता का नाम कृष्णा देवी और पिता का नाम कृष्णा बिहारी था. वहीं उनके पिता, उनके गृह नगर में एक स्कूल शिक्षक थे. बहुत से लोगों के द्वारा, Atal Bihari Vajpayee को एक बेहतरीन राजनेता माना जाता है, जिन्होंने भारत के प्रधानमंत्री के रूप में तीन कार्यकाल दिए हैं. वहीं पहली बार साल 1996 में, उनका यह कार्यकाल मात्र 13 दिनों की अवधि के लिए था.

हालाँकि, साल 1979 में Morarji Desai ने प्रधानमंत्री के रूप में इस्तीफा दे दिया, जिससे जनता संघ का विघटन हुआ था. इसके बाद Atal Bihari Vajpayee, भारतीय जन संघ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अपने कई सहयोगियों के साथ साल 1980 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ आए. ऐसा देखा गया था, कि वह पार्टी के पहले अध्यक्ष थे और कांग्रेस के एक मजबूत आलोचक के रूप में उभरे थे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Vajpayee उन नेताओं में से एक थे, जिन्हें साल 1975 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल के दौरान जेल में डाल दिया गया था. वहीं साल 1998 में, Atal Bihari Vajpayee ने एक प्रधानमंत्री के रूप में भारत ने पोखरण में सफलतापूर्वक पांच परमाणु परीक्षण किए थे.

ऐसा माना जाता है, कि Atal Bihari Vajpayee की सबसे बड़ी उपलब्धि उनकी सर्व शिक्षा अभियान की नींव थी, जिसने 6 से 14 साल के बच्चों के लिए शिक्षा को मौलिक अधिकार बना दिया. वहीं वह Vajpayee जी ही थे, जिन्होंने 'पूर्व की ओर देखो' नीति को जन्म दिया था. इसी नीति का पालन वर्तमान के प्रधानमंत्री, Narendra Modi भी करते हैं. 

Atal Bihari Vajpayee ने 15 अगस्त 2003 को चंद्रयान-I परियोजना को भी पारित किया था. इसके अतिरिक्त, उन्होंने राजकोषीय घाटे को कम करने के लिए राजकोषीय उत्तरदायित्व अधिनियम भी पेश किया और 5 साल की अवधि में, उन्होंने सार्वजनिक क्षेत्र की बचत को एक अच्छे सकारात्मक पहचान दिलाई थी.

इसके साथ ही, Atal Bihari Vajpayee को एक बेहतरीन कवि और लेखक भीमन जाता है. वहीं उन्होंने साल 2000 में अपने एल्बम नई दिशा के लिए सर्वश्रेष्ठ गैर-फिल्मी गीत के लिए स्क्रीन अवार्ड भी जीता था. आपको बता दें, कि नई दिशा को साल 1999 में रिलीज़ किया गया था और इसके लिऐ गजल वादक, Jagjit Singh chitra द्वारा गाया गया था.

मौजूदा जानकारी के अनुसार भारत के पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee पहली बार नियम तोड़ के अगर किसी को उनके घर पर सर्वोच्च भारतीय नागरिक होने का सम्मान देने गए हैं, तो वह Atal Bihari Vajpayee ही थे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि साल 2018 के 16 अगस्त को Atal Bihari Vajpayee ने दिल्ली के एम्स अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली थी. बताया जाता है, कि वह काफी लंबे समय तक एक बीमारी से जूझ रहे थे. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com