Arvind Kejriwal on Clean Yamuna: 2025 तक साफ़ होगी नदी, पहली डुबकी मैं ही लगाऊंगा

Arvind Kejriwal on Clean Yamuna: 2025 तक साफ़ होगी नदी, पहली डुबकी मैं ही लगाऊंगा

देश की राजधानी में कुछ दिन से यमुना नदी में फैली गंदगी का मुद्दा, लगातार सामने आ रहा है. इस पर बहुत सी राजनितिक पार्टियां भी लगातार बयानबाजी करने से नहीं चूक रही थी. मगर अब इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री, Arvind Kejriwal ने आज नया बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है, कि "वर्ष 2025 तक, यमुना नदी की पूरी तरह सफाई कर दी जाएगी".

मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal ने दिल्ली और आस पास के इलाकों में मौजूद नालों की सफाई को लेकर कहा है, कि "दिल्ली सरकार, ओखला, रिठाला समेत कई जगहों पर नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाने का काम कर रही हैं. इतना ही नहीं, जो ट्रीटमेंट प्लांट पहले से बने हुए है, उनको भी नई तकनीक के हिसाब से चलाने का काम प्रगति पर है. अब तक पुराने सीवरेज, पुराने तरीकों से ही काम कर रहे थे. मगर अब दिल्ली सरकार की कोशिश है, कि ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी साफ़ होकर निकले".

अपने संबोधन में दिल्ली के मुख्यमंत्री, Arvind Kejriwal ने ये भी कहा है, कि "दिल्ली में बहुत सारे गंदे नाले बह रहे हैं.  इन नालों की सफ़ाई और इनमें से बहते पानी की सफाई को अलग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके किया जाएगा और अगर जरुरत पड़ी, तो कुछ नालों के रास्ते को भी बदल दिया जाएगा".

Arvind Kejriwal ने इस बात की भी घोषणा की है, कि "नजफ़गढ़ ड्रेन, गाजीपुर ड्रेन की सफाई का काम पहले से ही शुरू हो चुका है और गंदगी फैलाने वाली फैक्ट्रियों पर नकेल कसी जाएगी. वहीं इन फैक्ट्रियों में से निकलने वाले इंडस्ट्रियल वेस्ट पर काम किया जाएगा और जो पर्यावरण उपयुक्त व्यव्हार नि करेगी, उन इंडस्ट्री को बंद किया जाएगा. इसके साथ ही, झुग्गी झोपड़ी की जितनी भी गंदगी है उसे भी सीवर में डाला जाएगा".

आज अपने संबोधन में मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal ने इस बात पर काफ़ी विस्तृत चर्चा की है, कि यमुना नदी को इतनी गंदी होने में 70 साल लग गए. इसे दो दिनों के भीतर साफ़ नहीं किया जा सकता है. मगर मैंने दिल्ली के चुनावों के दौरान लोगों से वादा किया था, कि अगले चुनावों तक इसे साफ कर दिया जाएगा और मैं अपना हर वादा निभाने को प्रयासरत हूं. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि यमुना नदी के पानी और प्रदुषण को लेकर अक्सर ही दिल्ली सरकार पर सवालिया निशान खड़े होते रहे हैं.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com