Amit Shah in Jammu and Kashmir: गृह मंत्री आज करेंगे नई विकास योजनाओं का शुभारंभ

Amit Shah in Jammu and Kashmir: गृह मंत्री आज करेंगे नई विकास योजनाओं का शुभारंभ

आज केन्द्रीय गृह मंत्री, Amit Shah के जम्मू-कश्मीर दौरे का तीसरा दिन है. ये जम्मू कश्मीर में, धारा 370 हटने के बाद, उनका पहला दौरा है. आज वे वहां पर बहुत सी नई केंद्रीय सरकार की योजनाओं का शुभारंभ करेंगे. इनमें मुख्य रूप से विकास परियोजनाएं शामिल हैं, जो केंद्रीय शाशित प्रदेश को तरक्की की ओर ले जाएंगी.

इससे पहले रविवार को Amit Shah, ने मकवाल सीमा के अग्रिम इलाकों का दौरा किया. इस दौरान, उन्होंने जवानों और स्थानीय लोगों से बातचीत की. उनके साथ जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी थे. उन्होंने एक मल्टी डिसिपिलेनरी अनुसंधान केंद्र के दो चरणों का उद्घाटन किया. वहां पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) में केंद्र के तीसरे चरण की आधारशिला रखी गई.  इन विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद, जम्मू जिले में जम्मू-कश्मीर के सांसदों, विधायकों और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ भी बैठक की. BSF के अतिरिक्त महानिदेशक N.S Jamwal ने उनका स्वागत किया. उन्होंने बताया, कि गृह मंत्री Amit Shah ने जवानों को कुछ तोहफे भी भेंट किए और उनसे बातचीत की. बातचीत के दौरान, उन्होंने भारत की रक्षा के लिए सुरक्षाकर्मियों के समर्पण की प्रशंसा की.

इस बारे Amit shah ने ट्वीट कर कहा, "सभी देशवासियों की ओर से, मैं अपने सुरक्षा बलों की बहादुरी को सलाम करता हूं और आभार व्यक्त करता हूं. प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार देश और उनके परिवारों की रक्षा करने वाले सुरक्षाकर्मियों के कल्याण के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं." शनिवार को, Amit Shah ने वहां के नागरिकों और सैनिकों के परिवारों से भी मुलाकात की थी. उन्होंने अक्टूबर में हुई हत्याओं से पीड़ित परिवारों से भी बातचीत की. इस महीने कश्मीर में कम से कम 11 नागरिक मारे गए हैं, जिनमें से अधिकांश अन्य राज्यों के थे. जम्मू पहुंच कर, केंद्रीय गृह मंत्री ने कश्मीरी पंडितों, गुर्जर-बकरवाल, पहाड़ी और जम्मू-कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधिमंडलों से भी मुलाकात की. 

Amit Shah के जम्मू कश्मीर दौरे को लेकर, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल Bipin Rawat ने कहा, कि केंद्रीय गृह मंत्री का घाटी का दौरा लोगों को विश्वास दिलाने के लिए है. लोगों को हमेशा ये लगना चाहिए, कि सुरक्षा बल और राज्य प्रशासन उनके साथ हैं. हम स्थिति को नियंत्रण में लाएंगे"

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com