Adani Stocks को भारी घाटा, शेयर बाजार की रफ़्तार थमी

Adani Stocks को भारी घाटा, शेयर बाजार की रफ़्तार थमी
Adani Group Chairman, Gautam Adani smiles after addressing the media in Ahmedabad (Photo credit should read SAM PANTHAKY/AFP via Getty Images)

शुक्रवार 18 जून को समाप्त हुआ हफ़्ता भारतीय शेयर बाज़ार के लिए काफ़ी खराब साबित हुआ. शुक्रवार को आखिरी सेशन की ट्रेडिंग के बाद शेयर बाजार की 4 हफ़्तों से चली आ रही बुल रन पर ब्रेक लग गया. इस हफ़्ते निवेशकों के लगभग 4 लाख करोड़ रुपये शेयर बाज़ार में डूब गए.   Adani Stocks को इस हफ़्ते बहुत नुक्सान झेलना पडा है.

BSE से लेकर NSE तक सब में दर्ज हुई गिरावट

Bombay Stock Exchange (BSE) का सेंसेक्स 0.25 प्रतिशत के घाटे के साथ बन्द हुआ तो वहीं निफ़्टी50 ने भी 0.73 प्रतिशत का घाटा उठाया है. BSE में लिस्टेड कंपनियों की कैपिटलाइजेशन में भी कमी दर्ज की गयी है। सप्ताह की शुरुआत में कंपनियो की औसत कैपिटलाइजेशन 231.11 करोड़ रुपये थी। सप्ताह खत्म होने पर यह राशि 227.33 करोड़ रुपये रह गई है।

BSE 500 के 15 शेयरों के स्टॉक्स 10 से 20 प्रतिशत तक गिरे हैं. HEG, Tube Investment, Adani Green Energy, Graphite India, Adani Power and Adani Total Gas जैसे बड़े नाम इस लिस्ट में शामिल हैं.

शेयर बाज़ार में कैसा रहा adani का प्रदर्शन :

इस हफ़्ते भारतीय शेयर बाजार में यूं तो कई प्रमुख कंपनियों के शेयर्स घाटे में आये हैं. परन्तु सबसे उल्लेखनीय नुकसान adani Stocks को हुआ है. BSE 500 की सबसे अधिक घाटे में रहने वाली कंपनियो की सूची में adani group की 3 कंपनियों ने चोटी के पायदान हासिल किए हैं. 

Adani Total Gas, Adani Transmission और Adani Power सूची में क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर काबिज हैं. तीनों कंपनियों को weekly returns के मामले में 22.50 प्रतिशत से अधिक का नुकसान हुआ है। 

इस सूची के टॉप 15 में अडानी ग्रुप की दो और कंपनियों के नाम शामिल हैं. Adani Ports and Special Economic zone ltd. को Weekly Returns के मामले में मामले में 17.19 प्रतिशत का घाटा हुआ है. कंपनी सूची में 5वें स्थान पर काबिज़ थी. इसके अलावा adani green energy को भी 13.36 प्रतिशत का नुकसान झेलना पड़ा। कंपनी सूची में 8वें स्थान पर रही. कुल मिलाकर Adani Stocks को इस हफ़्ते bazaar में बहुत अधिक घाटा उठाना पडा है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com