Afghanistan Latest News: काबुल से लौटे 16 यात्री कोरोना संक्रमित, सरकार ने जारी किए नए दिशानिर्देश

Afghanistan Latest News: काबुल से लौटे 16 यात्री कोरोना संक्रमित, सरकार ने जारी किए नए दिशानिर्देश

Afghanistan में तालिबान के संकट के बीच भारत वापस लाए गए भारतीय नागरिकों पर अब कोरोना का खतरा मंडरा रहा है. मंगलवार को कैबुल से लौटे 78 लोगों में से 16 लोगों की कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इन 78 नागरिकों में 25 भारतीय नागरिक और 46 अफगान सिख शामिल थे. 

जानकारी के मुताबिक, गुरु ग्रंथसाहिब की प्रतिमा लेकर आए 3 ग्रंथी भी संक्रमण का शिकार हुए. हालांकि, राहत की बात ये है कि काबुल से लौटे किसी भी नागरिक में कोरोना के गंभीर लक्षण नहीं दिखाई दिए. आपको बता दें, कि केंद्रीय मंत्री Hardeep Singh Puri समेत बीजेपी के अन्य नेता और हवाई अड्डे के कुछ अधिकारी भी इन कोरोना संक्रमित लोगों के संपर्क में आए. 

दरअसल, केंद्रीय मंत्री Afghanistan से लाई गुरुग्रंथ साहिब की तीन प्रतियों को लेने इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे थे. केंद्रीय मंत्री Hardeep Singh Puri स्वयं गुरुग्रंथ साहिब की प्रतियों को अपने सिर पर रखकर हवाई अड्डे से बाहर लाए.  

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता R P Singh ने इस बात की जानकारी देते हुए ट्वीट किया. उन्होंने कहा, "Afghanistan से श्री गुरुग्रंथ साहिब के स्वरूप लेकर आने वाले सभी 3 लोग धर्मेंद्र सिंह, कुलराज सिंह और हिम्मत सिंह कोरोना संकर्मित पाए गए हैं. उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर भेज दिया गया है. जल्द ही उनके स्वस्थ होने की कामना करता हूं."  

Afghanistan से आने वाले सभी यात्रियों को अब किया जाएगा क्वारेंटाइन

अफगान से आने वाले सभी यात्रियों के लिए अब केंद्र सरकार ने कोरोना के मामलों को देखते हुए नए निर्देश जारी किए. केंद्र ने नए नियम लागू करते हुए कहा कि, "Afghanistan से लौटने वाले सभी लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट करवाकर, आईटीबीपी के छावला कैंप में 14 दिन के लिए अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन किया जाएगा."

भारत सरकार काबुल हवाई अड्डे से भारतीय लोगों की वतन वापसी के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. बीती रात 12 बजे काबुल से सिख समुदाय के 40 लोग दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचे. जिन्हें अब आईटीबीपी क्वारंटिन सेंटर पर 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन किया जाएगा. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com