Reduce Belly Fat: सर्दियों में पेट की चर्बी कम करने के आसान उपाय

Reduce Belly Fat: सर्दियों में पेट की चर्बी कम करने के आसान उपाय
Wanida Prapan

शरीर में पेट की चर्बी (Belly Fat) या वजन कम करना एक मुश्किल काम है. वहीं, चर्बी को आंत के वसा के रूप में भी जाना जाता है. इतना ही नहीं, पेट के चारों ओर इस प्रकार की चर्बी मधुमेह, हृदय की स्थिति और अन्य पुरानी बीमारियों सहित कई बीमारियों के लिए एक बड़ा खतरा भी साबित हो सकती है.

ऐसा देखा जाता है, कि सर्दियों में लंबे समय तक निष्क्रियता के कारण व्यायाम करना थोड़ा कठिन हो सकता है. इसके साथ ही, कई खाद्य पदार्थ भी वजन बढ़ाने में योगदान देते हैं. यही वजह है, कि ठंड के महीनों के दौरान अत्यधिक पेट की चर्बी कम करना एक मुश्किल काम होगा. हालांकि, आयुर्वेद के अनुसार कुछ ऐसे तरीके मौजूद हैं जिनसे आप इसे कम कर सकते हैं.

1. गर्म पानी

अपने दिन की शुरुआत गर्म पानी पीने से करें क्योंकि यह मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है और पेट फूलने में मदद करता है. इसके अलावा, जब भी आपको जरूरी लगे आप दिन भर में गर्म पानी भी पी सकते हैं. यह सिर्फ पेट से ही नहीं बल्कि अन्य हिस्सों से भी चर्बी कम करने में काफी मददगार होता है.

2. योग

मोटापा कम करने का आसान तरीका योग है. आपको बस एक योगा मैट की जरूरत है. इसके बाद, नियमानुसार सूर्य नमस्कार और कपालभाति प्राणायाम करें, जिससे रक्त संचार और पाचन में सुधार होता है और चर्बी भी कम होगी. योग के आसन जानने के लिए आप बाबा रामदेव (Baba Ramdev) या किसी और योगगुरु या फिटनेस एक्सपर्ट का परामर्श ले सकते हैं.

3. मेथी का पानी

आप भुनी हुई मेथी दानों का बारीक चूर्ण बनाकर पानी में मिलाकर सेवन कर सकते हैं. इसको सुबह खाली पेट पिएं. वहीं, आप मेथी के दानों को रात में भी भिगो कर रख सकते हैं.

4. सूखा अदरक

आप सोंठ यानी सूखा अदरक भी खा सकते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है. वहीं, इसके पाउडर को उबले हुए पानी में मिलाकर पीना चर्बी को तेज़ी से कम करता है. 

5. तेज़ी से चलना

कमर की टाइट बेल्ट पहनें और 30 मिनट तक तेज गति से टहलें जिसे ब्रिस्क वाक भी कहते हैं. बेली फैट बर्न करने का यह एक असरदार तरीका है, जिसका इस्तेमाल बहुत असरदार है. 

Image Source


यह भी पढ़ें: Covid-19 Precautions: संक्रमण से सुरक्षित रखेंगी ये आदतें? पढ़ें पूरी रिपोर्ट

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com