Inspirational Bollywood Movies: संघर्ष, सफलता और मोटिवेशन से भरी फ़िल्में

Inspirational Bollywood Movies: संघर्ष, सफलता और मोटिवेशन से भरी फ़िल्में

वैसे तो हम सभी फिल्में एंटरटेनमेंट के लिए देखते हैं, मगर कुछ Inspirational Bollywood Movies हमारे अंदर मोटिवेशन की नई ऊर्जा भर देती हैं. ये Inspirational Bollywood Movies न केवल अपने उत्साहवर्धक कहानियों के लिए जानी जाती हैं, बल्कि अपने जुनून और जज्बे से भरे संवाद के लिए भी मशहूर हैं. चलिए जानते हैं, 10 Inspirational Bollywood Movies के नाम और उनके एक मोटिवेशनल डायलॉग को, जिसे आप निराशा और हताशा के क्षणों में देख सकते हैं.

10 Inspirational Bollywood Movies की सूची

"हमार पसीना हमारे तन में खून बनकर दौड़ेगा."

2001 में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'लगान', आज भी लोगों की उतनी ही पसंदीदा है जितनी उस वक़्त होती थी.दुख, पीड़ा और अत्याचार से लड़ना कितना जरूरी है, यह इस फ़िल्म में दिखाया गया है. आप इस फ़िल्म को नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं.

"अगर इन 70 मिनटों के लिए इस टीम का हर खिलाड़ी अपनी जिंदगी की सबसे बढ़िया हॉकी खेल गया, तो यह 70 मिनट खुदा भी तुमसे वापस नहीं मांग सकता. तो जाओ, जाओ और अपने आप से, इस जिंदगी से, अपने खुदा से, और हर उस इंसान से जिसने तुम पर भरोसा नहीं किया, अपनी जिंदगी के 70 मिनट छीन लो."

2007 में आई यह फिल्म भला किसको याद नही होगी? शाहरुख खान की उम्दा एक्टिंग इस फ़िल्म में 4 चांद लगा देती है. यह फ़िल्म आपको अपने साथ हंसाएगी भी और रुलायेगी भी. लेकिन अंत में जब फ़िल्म जीतती है तब आप भी जीत जाते हैं, और सीख जाते हैं ज़िन्दगी को बेखौफ होकर जीना.

"सक्सेस के पीछे मत भागो, एक्सीलेंस का पीछा करो. सक्सेस झक मारकर तुम्हारे पीछे आएगी."

2009 में आई यह फ़िल्म आज भी जब टीवी पर आती है, तो लोग अपना काम छोड़ इसको देखना पसंद करते हैं. यह फ़िल्म आपको हंसाते, रुलाते, होस्टल की ज़िन्दगी दिखाते हुए एक सबसे ज़रूरी सबक सीखाती है की दोस्त कामयाब तो हो जाओगे लेकिन सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए काबिलियत पर मेहनत करनी पड़ती है. आप इस फ़िल्म को नेटफ्लिज़ और अमेज़न प्राइम पर भी देख सकते हैं.

"डरने में कोई बुराई नहीं है, बस अपने डर को इतना बड़ा मत बना दो, कि वह तुम्हें आगे बढ़ने से रोक दे."

 2010 में आई इस फ़िल्म को शाहरुख की एक्टिंग का जादू भी कहा जा सकता है.यह फ़िल्म आप पर अपनी गहरी छाप छोड़ती है. इस फ़िल्म के संगीत को आप आज भी रोज़ाना सुनकर एन्जॉय कर सकते हैं. यह फ़िल्म  डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर उपलब्ध है.

"मैं अपने डैड के बगैर क्या हूं? मेरी खुद की पहचान क्या है? मुझे नहीं पता, मुझे नौकरी करनी है. मैं जानता हूं मुझे कुछ नहीं आता, पता नहीं मुझे कौन नौकरी देगा. पर अब मुझे काम करना है बस."

 2009 में आई इस फ़िल्म को देखकर आप खुद की इज़्ज़त करना सीखते हैं. खुदको एहमियत देना और खुद के टैलेंट की कद्र करना यह फ़िल्म आपको बखूबी सिखाती है. यह फ़िल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म, नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध है। 

"उतार कर फेंक दे सब जंजाल,

बीते कल का हर कंकाल,

तेरे तलवे हैं तेरी नाल,

तुझे तो करना है हर हाल.

दांत से काट ले बिजली तार,

चबाने तांबे की छंकार,

फूंक दे खुद को ज्वाला ज्वाला,

बिन खुद जले, होए ना उजाला.

लपट है आग मिल्खा, आग मिल्खा, आग मिल्खा."

हाल ही में भारतीय एथलीट, मिल्खा सिंह का निधन हो गया. 2013 में आई यह फ़िल्म, मिल्खा सिंह की जीवन कथा से प्रेरित होकर बनाई गई है. अपने छुपे हुए टैलेंट को खोजना और उसपर मेहनत करना यह फ़िल्म आपको सीखाती है.  

"भगवान के भरोसे मत बैठिए, क्या पता भगवान हमारे भरोसे बैठा हो."

2015 में आई इस फ़िल्म को देखना तो बनता है बॉस. नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की बेहतरीन एक्टिंग और फ़िल्म की शानदार कहानी, आपको मेहनत की एहमियत बताती है। यह फ़िल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म, नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध है.

"ताकत तो गैंडा भी लगाता है, लेकिन शेर लगाता है ताकत और टेक्निक, दोनो… शेर बनना है, गैंडा नहीं."

2016 में आई फ़िल्म दंगल, महिला पहलवान गीता फोगाट और बबिता फोगाट की कहानी है. यह फ़िल्म आपको सीखाती है, कि सिर्फ ताक़त ही नहीं, टेक्निक भी बहुत ज़रूरी होती है. यह फ़िल्म भी नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध है। 

"हर बच्चे की अपनी खूबी, अपनी काबिलियत होती है, अपनी चाहत होती है."

 2007 में आई फ़िल्म आपको बताती है, कि हर बच्चा स्पेशल है और हर बच्चे के उस स्पेशल टैलेंट की कद्र करनी चाहिए. इस फ़िल्म का आनंद भी नेटफ्लिक्स पर उठाया जा सकता है.

"मैं उड़ना चाहता हूं, दौड़ना चाहता हूं, गिरना भी चाहता हूं, बस रुकना नहीं चाहता."

2013 में आई इस फ़िल्म के बहुत से डायलाग आज भी आपको इंस्टाग्राम रील्स में सुनने को मिल जाएंगे. इस फ़िल्म के बहुत से गाने आज भी जाने अनजाने खूब बजाए जाते हैं. अपनी इज़्ज़त, अपने टैलेंट की इज़्ज़त और अपने सपनों की इज़्ज़त के साथ साथ यह फ़िल्म आपको अपने प्यार की कदर करना भी सीखाती है। इस फ़िल्म को आप नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com