Swara Bhaskar और Manish Maheshwari के खिलाफ सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

Swara Bhaskar और Manish Maheshwari के खिलाफ सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR
MUMBAI, INDIA - Indian actress Swara Bhaskar seen posing for a picture at Bumble's India launch party at Soho House, Juhu In Mumbai. Bumble is a new Social Networking app for women. (Photo by Azhar Khan/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)

बाॅलिवुड की अभिनेत्री Swara Bhaskar, सोशल मीडिया पर अपने बिंदास ट्वीट के लिए काफी सुर्खियां बटोरती रहती हैं. अब एक बार फिर अभिनेत्री सुर्खियां बटोर रही हैं. लेकिन इस बार वह अपने किसी ट्वीट या Kangana Ranaut से हुई बहस को लेकर चर्चा में नहीं है. बल्कि इस बार वह अपने उपर सांप्रदायिक हिंसा का मामला दर्ज होने को लेकर चर्चा में छाई हुई हैं. 

क्यों हुई शिकायत? 

खबरों के अनुसार गुरुवार को Swara Bhaskar,  Twitter India के MD Manish Maheshwari समेत कई अन्य लोगों पर दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है. इन नामों में पत्रकार Arfa Khanum और Asif Khan का नाम भी मौजूद है. इन सभी पर उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हुई सांप्रदायिक हिंसा की वीडियो वायरल होने के बाद मामला दर्ज किया गया है. यह शिकायत, वकील Amit Acharya ने दिल्ली के तिलक नगर पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई है. उनका आरोप है कि अभिनेत्री और Twitter India ने गाजियाबाद हिंसा का वीडियो वायरल कर सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा दिया है. 

आखिर क्या है पूरा मामला?

5 जून को ट्विटर पर गाजियाबाद के लोनी का एक बीडियो पोस्ट हुआ था. वीडियो में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति ने कहा था, कि एक समूह के लोगों ने उनकी दाढ़ी काट दी थी. इसके साथ ही उन्हें जय श्री राम और वंदे मातरम के नारे लगाने पर मजबूर भी किया गया था. वीडियो के वायरल होने के बाद ट्विटर से लोगों ने इस भड़काऊ वीडियो को हटाने की मांग की थी. जिसे ट्विटर ने नहीं हटाया था. 

इसके बाद उत्तर प्रदेश में ट्विटर के खिलाफ इस वीडियो को लेकर एक मामला भी दर्ज किया गया था. पुलिस के मुताबिक यह मामला सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने का था. इस शिकायत में Twitter India समेत कांग्रेस पार्टी के कई बड़े नेताओं के नाम भी शामिल थे. 

पुलिस का बयान

पुलिस ने इस पूरे मामले पर कहा है कि यह सांप्रदायिक हिंसा का मामला नहीं है. एक व्यक्ति Sufi Abdul Samad पर सच में छह लोगों ने हमला किया था. इन लोगों में हिंदू और मुस्लिम दोनों धर्मों के लोग शामिल थे. वह लोग बुजुर्ग द्वारा बेचे गए ताबीज से खुश नहीं थे, इसलिए उन पर हमला किया था. पुलिस का कहना है, कि ट्विटर समेत कई पत्रकारों व Swara Bhaskar पर वीडियो को वायरल करने का आरोप है. इस वीडियो के कारण सांप्रदायिक भावनाओं को दुख पहुंचा है. अभी इन पर कोई FIR दर्ज नहीं की गई है. मामले की जांच शुरु कर दी गई है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com