Nayanthara-Vignesh Surrogacy Row: ‘नहीं तोड़ा कानून’, सरकार ने किया सभी आरोपों से मुक्त

Nayanthara-Vignesh Surrogacy Row: ‘नहीं तोड़ा कानून’, सरकार ने किया सभी आरोपों से मुक्त

दक्षिण फ़िल्म इंडस्ट्री की लोकप्रिय अभिनेत्री नयनतारा (Nayanthara) और उनके पति फिल्म निर्माता विग्नेश शिवन (Vignesh Shivan) ने एक महीने पहले, सोशल मीडिया पर सरोगेसी के माध्यम से 2 जुड़वां लड़कों के माता-पिता बनने की खबर शेयर की थी. इसपर काफ़ी विवाद हुआ और उनकी सरोगेसी की वैधता (Nayanthara-Vignesh Surrogacy Controversy) पर भी कई सवाल खड़े हुए. इसके बाद, तमिलनाडु सरकार द्वारा जाँच करने के बाद, अब दोनों को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, तमिलनाडु सरकार ने कहा है, कि नयनतारा और विग्नेश शिवन ने कोई सरोगेसी कानून नहीं तोड़ा. सरोगेट मां की उम्र एकदम उपयुक्त थी, जो शादीशुदा थी और उसका एक बच्चा भी था. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग (Department of Health and Family Welfare) की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ बताया गया है, कि "नयनतारा और विग्नेश शिवन को इलाज प्रदान करने वाले डॉक्टर की जांच करने पर यह पता चला, कि दंपति के परिवार के एक डॉक्टर ने साल 2020 में सिफारिश का एक पत्र प्रदान किया था, जिसके आधार पर उन्हें उपचार प्रदान किया गया था." हालांकि, जाँच टीम नयनतारा और विग्नेश के पारिवारिक डॉक्टर से पूछताछ नहीं कर पाई, क्योंकि वह दूसरे देश में हैं और फोन पर भी उनसे बात नहीं हो पाई.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की इस रिपोर्ट में आगे यह भी बताया गया है, कि "नयनतारा के अंडाशय में एक कोशिका (oocytes) जो डिंब बनाने के लिए विभाजित हो सकती है, उसके इलाज के रिकॉर्ड को निजी अस्पताल द्वारा ठीक से नहीं रखा गया था. सरोगेट मां ने नवंबर 2021 में दंपति के साथ एक समझौता किया था. फिर भ्रूण को मार्च 2022 में सरोगेट मां के गर्भ में रखा गया. इसके बाद, उस सरोगेट मां ने अक्टूबर 2022 में जुड़वां लड़कों को जन्म दिया.” वहीं जांच टीम ने फर्टिलिटी क्लिनिक में गड़बड़ी पाई, जहां दंपत्ति को दिए गए उपचार का उचित रिकॉर्ड नहीं रखा गया. इसी कारण, क्लिनिक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे अस्थाई रूप से बंद कर दिया गया है.

आपको बता दें, कि नयनतारा और विग्नेश शिवन ने साल 2016 में अपनी शादी को पंजीकृत किया था. इसके बाद, साल 2022 में दोनों ने आधिकारिक रूप से शादी कर ली. दोनों के पिछले महीने अक्टूबर में सरोगेसी के ज़रिए माता-पिता बनने के बाद से उनपर भारत के सरोगेसी कानून (Surrogacy Law) का उल्लंघन करने के आरोप लग रहे थे. इसकी जांच के लिए तमिलनाडु सरकार द्वारा एक 3 सदस्यीय जाँच समिति का गठन किया गया था. वहीं अब यह बात साफ़ हो गई है, कि नयनतारा और विग्नेश शिवन ने कोई क़ानून नहीं तोड़ा.

नयनतारा के काम की बात करें, तो दक्षिण में अपने दमदार अभिनय के लिए मशहूर अभिनेत्री अब जल्द ही एटली (Atlee) की बहुप्रतिक्षित फ़िल्म ‘जवान’ (Jawan) के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रहीं हैं. इस फिल्म में उनके साथ बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख़ खान (Shahrukh Khan) मुख्य भूमिका में नज़र आएँगे.

Image Source

यह भी पढ़ें: Kantara Box Office Collection: नहीं थम रहा कमाई का तूफान, IMDb पर मिली ये रेटिंग

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com