Makar Sankranti 2023: इस दिन भूलकर भी न करें ये काम और खाएं ये 5 पकवान

Makar Sankranti 2023: इस दिन भूलकर भी न करें ये काम और खाएं ये 5 पकवान
anand purohit

मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के त्योहार को हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है. हालांकि, साल 2023 में इसकी तारीख को लेकर लोगों के बीच असमंजस की स्थिति थी. वहीं, हिंदू पंचांग के मुताबिक 2023 में सूर्य शनिवार 14 जनवरी रात्रि 08:21 पर धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेगा. ऐसे में, उदयातिथि के अनुसार मकर संक्रांति के त्योहार को 15 जनवरी को मनाया जा रहा है.

पारंपरिक मकर संक्रांति खाद्य पदार्थ

1. तिल लड्डू

तिल लड्डू एक शानदार संक्रांति स्टेपल है. यह तिल और गुड़ को गर्म करके बने होते हैं और दोनों ही संक्रांति उत्सव का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. यहां तक कि महाराष्ट्रीयन अक्सर एक दूसरे को तिल लड्डू खिलाते समय एक दूसरे को 'तिल-गुल घ्या, आनी बकरी-गोड बोला' कहकर अभिवादन भी करते हैं.

2. पूरन पोली

यह एक महाराष्ट्रीयन व्यंजन है, जो मकर संक्रांति पर बनाया जाता है. पूरन पोली, जो एक मीठी चपाती है इसमें मीठे और कुरकुरे मूंग की फिलिंग भरी जाती है. 

3. मकर चौला

मकर चौला ताजा कटे हुए चावल, गुड़, दूध, छेना, केला और गन्ने का स्वादिष्ट मिश्रण है, यह संक्रांति के दौरान लगभग हर उड़िया घर में बनाया जाता है. वहीं, भगवान को भोग लगाने के बाद इसे सभी में बांटा जाता है.

4. खिचड़ी

चावल के साथ पके हुए मूंग और देहाती मसालों का एक पूल, खिचड़ी भारतीयों के लिए सिर्फ एक आरामदायक भोजन से कहीं अधिक है. बिहार में लोग संक्रांति पर भी स्वादिष्ट खिचड़ी बनाते हैं और घी के साथ इसका आनंद लेते हैं. घी के लिए आप अमूल (Amul) ब्रांड को भी चुन सकते हैं.

5. पिन्नी

ढेर सारा घी, गेहूं का आटा, गुड़ और बादाम, पिन्नी पंजाब का एक स्वादिष्ट सर्दियों का व्यंजन है, जो लोहड़ी और संक्रांति उत्सव के दौरान व्यापक रूप से तैयार किया जाता है. यह मिठाई घी और मेवों से इतनी सघन रूप से भरी होती है कि इसे पारंपरिक रूप से सर्दी से संबंधित विभिन्न बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करने के लिए भी जाना जाता है.

मकर संक्रांति के दिन भूलकर भी न करें ये काम

1. संक्रांति के दिन प्याज, लहसुन और मांस का सेवन नहीं करना चाहिए. इसके अलावा, इस दिन रात का बचा हुआ या बासी खाना नहीं खाएं. वरना आपके अंदर ज्यादा गुस्सा और नकारात्मक ऊर्जा हावी होगी.

2. मकर संक्रांति के दिन अपनी वाणी पर संयम रखें और गुस्सा न करें. इसके साथ ही, इस दिन किसी गरीब इंसान को भूलकर भी खाली हाथ न लौटाएं.

क्या करें

1. मकर संक्रांति के दिन आप सूर्योदय और सूर्यास्त के वक्त पूजा-अर्चना करें. इसके अलावा इस दिन खिचड़ी और तिल-गुड़ का दान करने से अधिक लाभ होता है.

2. मकर संक्रांति के दिन काले तिल दान का करने का विशेष महत्व होता है. वहीं, इस दिन खाने में भी सात्विकता का पालन करें.


यह भी पढ़ें: Makar Sankranti 2023 Date: 14 या 15 जनवरी? कब और किस समय पर मनाया जाएगा उत्तरायण

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com