कॉफी विद करण 7 के प्रीमियर से पहले ‘पापा जो’ से नाराज़ हुईं कंगना रनौत, पूछा एक सवाल

कॉफी विद करण 7 के प्रीमियर से पहले ‘पापा जो’ से नाराज़ हुईं कंगना रनौत, पूछा एक सवाल

अपने तीखे बयानों से अक्सर सुर्ख़ियों में रहने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut), अब एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में आईं. अभिनेत्री ने फिर एक बार निर्माता करण जौहर (Karan Johar) पर कटाक्ष किया है, जो अपने शो कॉफी विद करण 7 (Koffee With Karan 7) के प्रीमियर में व्यस्त हैं. वहीं शो की रिलीज़ से पहले, कंगना ने 'पापा जो' के लिए एक विशेष संदेश भेजा.

दरअसल, करण जौहर ने अपने लोकप्रिय सेलिब्रिटी चैट शो कॉफ़ी विद करण सीज़न 7 की रिलीज़ से पहले, शो के पिछले सीज़न के कुछ पॉपुलर एपिसोड्स शेयर किए. मगर हैरानी की बात ये है, कि इन एपिसोड्स में कंगना कनात के विवादित एपिसोड का कोई वीडियो शेयर नहीं किया गया. इसी पर अभिनेत्री ने करन पर कटाक्ष करते हुए उनसे सवाल किया है.

अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर कंगना रनौत ने कॉफी विद करन (Koffee With Karan) के उस एपिसोड का स्क्रीनशॉट शेयर किया, जिसमें वह आईं थी. तस्वीर शेयर करते हुए अभिनेत्री ने लिखा, “पापा जो आज ओटीटी पर प्रीमियर के लिए सभी पॉपुलर कॉफी एपिसोड का प्रचार कर रहे हैं, पापा जो को शुभकामनाएँ ... लेकिन सॉरी, इस एपिसोड का क्या? सर्जिकल स्ट्राइक, घर में घुस कर मारा था ना, मेरा एपिसोड उनका सबसे पॉपुलर एपिसोड है और इसके बाद उन्हें टीवी पर बैन कर दिया गया था.”

जानकारी के लिए बता दें, कि कंगना 2017 में कॉफ़ी विद करण के सीज़न 5 में दिखाई दीं थी. वह शो में अपनी फ़िल्म रंगून (Rangoon) के सह-कलाकारों शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) और सैफ अली खान (Saif Ali Khan) के साथ शामिल हुईं थी. इसी एपिसोड में कंगना ने करण पर नेपोटिज़्म का आरोप लगाया था. यह एपिसोड इतना विवादित था, कि इसने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा और लोग करण जौहर को बैन करने की माँग करने लगे. मगर करण ने 2018 में कॉफ़ी विद करण 6 के साथ टेलीविज़न पर वापसी की.

इस साल, करण टेलीविज़न को अलविदा कहकर, अपने मशहूर टॉक शो को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ करने जा रहे हैं. कॉफी विद करण 7, डिज्नी प्लस हॉटस्टार (Disney+ Hotstar) पर हर सप्ताह प्रीमियर होगा. वहीं शो के पहले एपिसोड में आलिया भट्ट (Alia Bhatt) और रणवीर सिंह (Ranveer Singh) नज़र आएँगे.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com