Kangana Ranaut News: पाकिस्तान में हुई हिन्दू लड़की की हत्या पर CAA का विरोध करने वालों पर कसा तंज

Kangana Ranaut News: पाकिस्तान में हुई हिन्दू लड़की की हत्या पर CAA का विरोध करने वालों पर कसा तंज

पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचार के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहें हैं. सोमवार को पाकिस्तान के सिंध में एक 18 साल की हिंदू लड़की की गोली मारकर सरेआम हत्या कर दी गई. बताया जा रहा है, कि आरोपी ने लड़की को अगवा करने की कोशिश की, लेकिन जब वह सफल नहीं हो सका, तो आरोपी ने गोली मारकर हत्या कर दी. अब इस मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) का विरोध करने वालों पर निशाना साधा है.

अभिनेत्री कंगना रनौत, अपने बेबाक अंदाज़ और सामाजिक मुद्दों पर आवाज़ उठाने के लिए जानी जाती हैं. पाकिस्तान के सिंध में हुए इस घिनौने कृत्य पर अभिनेत्री ने इंस्टाग्राम स्टोरी शेयर करते हुए लिखा, कि “हर दिन एक ही कहानी, CAA का विरोध करने वालों का खून आपके हाथ में है". उन्होंने आगे लिखा, कि "स्कूल में धार्मिक फैंसी ड्रेस पहनने के इच्छुक, धार्मिक कट्टरपंथियों की तुलना में संपूर्ण उदारवादी दुनिया के लिए कम महत्वपूर्ण हैं".

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, यह मामला पाकिस्तान के सिंध के रोही का है. यहां पूजा कुमारी ओड ने हमलावरों का विरोध किया, तो उसे सड़क के बीच में लाकर गोली मार दी गई. आपको बता दें, कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक खासकर सिंध में हिंदू महिलाओं को अगवा किया जाता है, फिर उनका जबरन धर्मांतरण कराया जाता है.

वहीं, पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत (Naila Inayat) ने ट्वीट करते हुए कहा, कि पाकिस्तान नाम की इस पाक जमीन पर हर दिन हिंदू और ईसाई बेटियों का अपहरण किया जाता है, जबरन धर्म परिवर्तन करा उससे शादी की जाती है और पाकिस्तान इन सबको तमाशाबीन बनकर देखता रहता है. सिंध के सुक्कुर में अपहरण और धर्मांतरण का विरोध करने वाली 18 वर्षीय पूजा कुमारी ओड की वाहिद लशारी ने गोली मारकर हत्या कर दी है.

पीपुल्स कमीशन फॉर माइनॉरिटीज राइट्स (Peoples Commission for Minorities Rights)और सेंटर फॉर सोशल जस्टिस (Centre For Social Justice) के मुताबिक, साल 2013 से 2019 के बीच में जबरन धर्मांतरण के 156 मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं, साल 2019 में सिंध सरकार ने जबरन धर्मांतरण और दूसरी शादी के खिलाफ बिल लाने का प्रयास किया, लेकिन कट्टरपंथियों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था. जिसके बाद बिल को वापस लेना पड़ा था. पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टेटिस्टिक्स के मुताबिक, पाकिस्तान में 1.6 प्रतिशत हिन्दुओं की आबादी है. इनमें से 6.51 प्रतिशत हिन्दुओं की आबादी सिर्फ सिंध प्रांत में है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com