कोर्ट ने माँगा ईडी से जवाब, "क्यों नहीं किया जैकलीन फ़र्नांडीज़ को गिरफ्तार”

कोर्ट ने माँगा ईडी से जवाब,  "क्यों नहीं किया जैकलीन फ़र्नांडीज़ को गिरफ्तार”

गुरुवार को 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जैकलीन फ़र्नांडीज़ (Jacqueline Fernandez) की ज़मानत याचिका पर सुनवाई हुई. सुनवाई में प्रवर्तन निदेशालय (ED) से दिल्ली की एक अदालत ने पूछा, कि बॉलीवुड अभिनेत्री को अभी तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है? इस सुनवाई के दौरान, अभिनेत्री खुद भी कोर्ट में मौजूद थीं.

कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय से पूछा, कि “एलओसी जारी करने के बाद भी आपने जैकलीन को अभी तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया? बाक़ी सभी आरोपी जेल में हैं. उठाने और चुनने की नीति क्यों अपनाएं?” जैकलीन फ़र्नांडीज़ की ज़मानत याचिका पर अदालत कल अपना फैसला सुना सकती है. अभिनेत्री को पहले अंतरिम ज़मानत दी गई थी.

आपको बता दें, कि जैकलीन फ़र्नांडीज़ पर 200 करोड़ रुपये के जबरन वसूली मामले में कॉनमैन सुकेश चंद्रशेखर (Sukesh Chandrasekhar) के साथ जोड़ा गया है. वहीं अभिनेत्री की ज़मानत के खिलाफ अदालत में प्रवर्तन निदेशालय की मुख्य दलील यह थी, कि उन्होंने देश से भागने की कोशिश की, जांच टीम के साथ सहयोग नहीं किया और उन पर इस मामले में गंभीर आरोप लगे हैं.

“हमने अपने पूरे जीवन में 50 लाख रुपये नकद नहीं देखे हैं, लेकिन जैकलीन ने मनोरंजन के लिए 7.14 करोड़ रुपये खर्च किए. उन्होंने भागने की कोशिश करने के लिए हर कोशिश आज़माई, क्योंकि उनके पास बहुत पैसा है,” प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत को बताया. आपको बता दें, कि प्रवर्तन निदेशालय ने इससे पहले अभिनेत्री को देश छोड़ने से रोकने के लिए, हवाई अड्डों पर एक अलर्ट लुकआउट सर्कुलर जारी किया था.

बदमाश सुकेश चंद्रशेखर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में (Sukesh Chandrasekar Case), प्रवर्तन निदेशालय के आरोपपत्र में जैकलीन फ़र्नांडीज़ को भी आरोपी बनाया गया है. अभिनेत्री पर सुकेश से महंगे तोहफ़े लेने का आरोप लगा है. ग़ौरतलब है, कि दिल्ली की जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर ने कथित तौर पर फोर्टिस हेल्थकेयर (Fortis Healthcare) के पूर्व प्रमोटर शिविंदर मोहन सिंह (Shivinder Mohan Singh) की पत्नी, अदिति सिंह (Aditi Singh) सहित कई लोगों को ठगा है.

Image Source

यह भी पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा ने की योगी सरकार की सराहना कहा राज्य में महिलाओं की स्थिति में सुधार

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com