Happy Birthday Aamir Khan: इन 5 फ़िल्मों से मिली ज़िंदगी की ये बड़ी सीख

Happy Birthday Aamir Khan: इन 5 फ़िल्मों से मिली ज़िंदगी की ये बड़ी सीख

बॉलीवुड के ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’ कहे जाने वाले Aamir Khan, आज अपना 57वां जन्मदिन मना रहे हैं. अभिनेता अपनी कई फ़िल्मों के साथ एक नया संदेश भी लेकर आते हैं, जो लोगों को काफ़ी पसंद आता है. फ़िल्मों के साथ नए-नए एक्सपेरिमेंट करने के लिए मशहूर, Aamir Khan ने अपने करियर की शुरुआत 'क़यामत से क़यामत तक’ से की और उनकी यह फ़िल्म, बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी.

गौरतलब है, कि अभिनेता का जन्म आज के दिन वर्ष 1965 को मुंबई में हुआ था. वहीं उनकी कई ऐसी फ़िल्में हैं, जो मनोरंजन के साथ-साथ आपको जिंदगी जीने के जज्‍बे और करियर से जुड़ी सीख भी देती हैं. आइए Aamir Khan के जन्मदिन पर उनकी कुछ ऐसी फ़िल्म पर नज़र डालें, जिसनें लोगों की धारणाओं को बदला है -

1. तारे ज़मीन पर

फ़िल्म ‘तारे ज़मीन पर’ में दिखाए गए बच्‍चे की कहानी काफ़ी लोगों के दिलों को छू गई थी. माँ-बाप को अपने बच्‍चों से बहुत सी उम्‍मीदें होती हैं, जबकि इस सबके बीच वो यह भूल जाते हैं, कि हर बच्‍चा अलग होता है. इस फ़िल्म से यह सीख मिलती है, कि बच्‍चों को खुद सीखने और विकास करने का मौका देना चाहिए. इसके साथ ही, बच्‍चों से हर क्षेत्र में अव्‍वल आने की उम्‍मीद न करें, उन्हें अपनेयोग्यता और क्षमता के दम पर कुछ करने का मौका दें.

2. 3 इडियट्स

Aamir Khan, की फ़िल्म ‘3 इडियट्स’ को भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में काफ़ी प्यार मिला था. इस फ़िल्म ने माता-पिता के साथ ही, उन युवाओं की सोच को भी बदला, जो बिना कुछ सीखें बस एक मशीन की तरह काम में लगे रहते हैं. वहीं फ़िल्म के ज़रिए यह संदेश देने की कोशिश की गई थी, कि पढ़ाई में आए नंबर ही सब कुछ नहीं होते, बच्‍चों को अपनी रुचि के हिसाब से अपनी करियर का चयन करना चाहिए.

3. रंग दे बसंती

साल 2006 में आई आमिर की फ़िल्म ‘रंग दे बसंती’, अपनी हक के बारे में सोचने और उठ खड़े होने के बारे में थी. यह फ़िल्म युवाओं को अपने अधिकार के लिए आवाज़ बुलंद करने की शानदार कहानी के इर्दगिर्द पिरोये गई थी.

4. दंगल

फ़िल्म ‘दंगल' में एक पिता के सच्चे संघर्ष और जज्बे को दर्शाया गया है, जो अपनी बेटियों को बेटे से कम नहीं समझता. फ़िल्म में यह दिखाने की कोशिश की गई है, कि लड़का और लड़की एक समान हैं. आपको बता दें, कि यह फ़िल्म हरियाणा की प्रसिद्ध रेसलर गीता और बबीता फोगाट के जिंदगी पर आधारित थी.

5. पी.के.

Aamir Khan की फ़िल्म ‘पी.के.’ ने यह संदेश देने की कोशिश की थी, कि भगवान सिर्फ मंदिरों में नहीं बल्कि हर कण-कण में हैं. यह फ़िल्म, समाज में भगवान के नाम पर किए जा रहे दिखावे को रोकने की कोशिश पर आधारित थी.

वहीं अभिनेता Aamir Khan, करीब 4 साल के लंबे ब्रेक के बाद फ़िल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ से वापसी करने वाले हैं. यह एक हॉलीवुड फ़िल्म की हिंदी रीमेक बताई जा रही है. इस फ़िल्म में Kareena Kapoor भी मुख्य भूमिका में नज़र आएंगी. गौरतलब है, कि Aamir Khan को आखिरी बार फ़िल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ में देखा गया था. मगर उनकी यह फ़िल्म, बॉक्स ऑफिस पर कुछ कमाल नहीं दिखा पाई थी.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com