कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग में कोविड-19 का तीसरा म्यूटेंट ज्यादा घातक।

कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग में  कोविड-19 का तीसरा म्यूटेंट ज्यादा घातक।

कोविड-19 वायरस का तीसरा म्यूटेंट है पहले से ज्यादा घातक।

भारत में पिछले 24 घंटे में लगभग तीन लाख कोरोना संक्रमण के मामलों और 2,000 से अधिक मौतों को रिपोर्ट किया गया है। इस महामारी के दौर में, सबसे बड़ी चुनौती  वायरस में एक नया परिवर्तन यानी म्यूटेशन  के रूप में उभरा है।

दोहरे उत्परिवर्तन यानी डबल म्यूटेशन के बाद, अब कोरोना का ट्रिपल म्यूटेशन सामने आया है। जिसका अर्थ है कि, एक नए और घातक कोविड-19 वायरस कोबनाने के लिए कोविड-19 के  तीन अलग अलग प्रकार सामने आए है।

अभी तक महाराष्ट्र, दिल्ली और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों से ट्रिपल म्यूटेंट के मामले सामने आए हैं।

मैकगिल विश्वविद्यालय में महामारी विज्ञान के प्रोफेसर मधुकर पई ने कहा, " यह वायरस का एक अधिक संक्रमणीय प्रकार है जो बहुत जल्दी लोगों को बीमार कर रहा है। इस बीमारी की रोकधाम के लिए हमें वेक्सिनेशन लगवाने होते हैं। उसके लिए हमें बीमारी को समझने की जरूरत है। लेकिन हमें युद्धस्तर पर इस वायरस की सीक्वेंसिंग को समझने की जरूरत है ।हो सकता है की डबल म्यूटेशन का पता लगाने में हुई देरी की बदौलत वायरस तेज़ी से म्यूटेट हो गया है"।

ज़्यादा म्यूटेशन की वज़ह?

वायरस में तेजी से म्यूटेशन होने की वजह संक्रमण के फैलने की गति और संख्या पर निर्भर करती है। जितना अधिक वायरस फैलता है, उतना ही म्यूटेंट बनता जाता है और जितना अधिक यह बदलाव होता है वायरस उतना ही ज्यादा म्यूटेट होता रहता है।

ट्रिपल म्यूटेशन क्या होती है?

 वायरस अपने शरीर के जीनोम में दो बार बदलाव कर चुका है। हर बार यह बदलाव पहले से ज्यादा घातक होता है।अब कोविड-19 वायरस ने तीसरा बदलाव यानी म्यूटेशन की है और ये पहले से भी ज्यादा घातक है। इस नए कोविड-19 वायरस को वैज्ञानिक तौर पर B.1.617 नाम दिया गया है, जिसमें दो तरह के बदलाव पाए गए हैं- यह दो म्यूटेशन है E484Q और L452R म्यूटेशन।

क्या मौजूदा वेक्सीन कोरोना के नए वेरिएंट के खिलाफ कारगर हैं?

 यह देखा गया है कि ट्रिपल म्यूटेशन में तीन में से दो वेरिएंट में इम्यून एस्केप प्रक्रिया पाई गई है। जिसका अर्थ है कि वे एंटीबॉडी के लिए अधिक प्रतिरोधी हैं। टीकों की प्रभावशीलता पर अभी बहुत अधिक जानकारी नहीं है। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि नए वेरिएंट में शरीर प्रतिरक्षा से बचने की कुछ क्षमता है। मतलब यह ज्यादा घातक है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com