Tokyo Olympics: ओलंपिक से पहले बुजुर्गों के लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण स्थल खोलेगा जापान, नागरिकों के लिए अच्छी खबर Q

Tokyo Olympics: ओलंपिक से पहले बुजुर्गों के लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण स्थल खोलेगा जापान, नागरिकों के लिए अच्छी खबर Q

पूरे विश्व में कोरोना वायरस(Covid-19) संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन अभियान जोरों शोरों से चल रहा है। जापान में अभी कोविड-19 वैक्सीन पूरी जनसंख्या को नहीं लगी है। इसी दौरान ओलंपिक Tokyo Olympics शुरू होने वाले हैं, इसलिए जापान सरकार ने यह फैसला किया है कि Tokyo Olympics शुरू होने से पहले वह बड़े पैमाने में बुजुर्गों की वैक्सीनेशन का अभियान पूरा करेगा। इसके लिए वहां पर बहुत ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर भी खोले गए हैं। इस अभियान में जापान की सेना और नर्स भी  मदद करेंगे।

जापान अपना पहला सामूहिक टीकाकरण केंद्र खोलने की तैयारी कर रहा है। यह पहल Tokyo Olympics को देखते हुए टीकाकरण(covid-19 vaccination) अभियान को गति देने के लिए की गई है। आपको बता दें कि 23 जुलाई से लेकर 8 अगस्त तक Tokyo Olympics का आयोजन जापान के टोक्यो शहर में किया जाएगा। Tokyo Olympics के मद्देनज़र जापान के टोक्यो और ओसाका में दो सैन्य-संचालित केंद्र शुरू में शहरों के बुजुर्ग निवासियों के लिए प्रतिदिन हजारों covid-19 वैक्सिनों का प्रबंध करेंगे। 

इस वक़्त जापान कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की चौथी लहर से जूझ रहा है। जापान की 125 मिलियन आबादी में से केवल दो प्रतिशत लोगों को अभी तक पूरी तरह से टीका लगाया गया है – जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका में लगभग 40 प्रतिशत और फ्रांस में 15 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण हो चुका है।

टोक्यो केंद्र का लक्ष्य एक दिन में 10,000 वैक्सीन लगाना है, जबकि ओसाका केंद्र रोजाना 5000 तक वैक्सीनेशन करेगा। दोनों दो-शॉट मॉडर्न वैक्सीन का उपयोग कर रहे हैं, जिसे एस्ट्राजेनेका फॉर्मूला के साथ शुक्रवार को जापान में उपयोग के लिए अनुमोदित किया गया था।

लेकिन एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का तुरंत उपयोग नहीं किया जाएगा सकता क्योंकि इसे लगाने से मरीजों के शरीर में ब्लड क्लॉटिंग होने का खतरा है।

जापान ने फरवरी में पहले चिकित्साकर्मियों और फिर 65 से अधिक उम्र के लोगों को फाइजर वैक्सीन देना शुरू किया है और अब उनका लक्ष्य जुलाई के अंत तक Tokyo Olympics शुरू होने से पहले टीकाकरण समाप्त करना है।

लेकिन मंत्री इस बात पर जोर देते हैं कि Tokyo Olympics के खेलों को उनके रोलआउट शेड्यूल में शामिल नहीं किया गया है, और अन्य आयु समूहों के लिए किसी तारीख की घोषणा नहीं की गई है।

जापान में बाकी देशों के मुकाबले कोरोना वायरस(Covid-19) का प्रकोप कम देखा गया है। कोरोना वायरस(Covid-19) से जापान में कुल मिलाकर लगभग 12,000 मौतें हुई हैं, लेकिन हाल ही में संक्रमण में वृद्धि ने अस्पतालों को तनाव में डाल दिया है।

जनता इस गर्मी में Tokyo Olympics आयोजित करने का काफी हद तक विरोध करती है लेकिन आयोजकों का कहना है कि इस कार्यक्रम को सुरक्षित रूप से आयोजित किया जा सकता है।

Tokyo Olympics में  हिस्सा बनने वाले अधिकांश एथलीटों और अन्य लोगों को जापान में प्रवेश करने से पहले टीका लगाया जाएगा, लेकिन भाग लेने के लिए टीकाकरण को अनिवार्यता नही दी गई है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com