Covid-19 Treatment: ये नए उपचार बचा सकते हैं महामारी से जान

Covid-19 Treatment: ये नए उपचार बचा सकते हैं महामारी से जान

आज पूरे विश्व में Covid-19 महामारी से बचने के लिए टीकाकरण अभियान ज़ोरों से चल रहा है. यहां तक ​​​​कि आज पूरे देश में तीन अत्यधिक प्रभावी टीके भरपूर मात्रा में उपलब्ध हैं. मगर वहीं SARS-CoV-2 का डेल्टा संस्करण, अब भी बड़ी संख्या में नए Covid-19 संक्रमणों का कारण बना हुआ है. डेल्टा संस्करण उन राज्यों में अधिक फैल रहा है, जहां टीकाकरण की दर कम है. हालांकि, अब भारत के पास नई और पुनर्निर्मित दवाएं भी उपलब्ध हैं. अस्पताल में भर्ती Covid-19 रोगियों के लिए,  नए प्रकार के उपचार अपनाए जा रहे हैं. रोगियों को उनके पेट के सहारे लेटाकर, डेल्टा संस्करण के प्रभावों को कम किया जा रहा है, इसके परिणामस्वरूप मरीज़ों की स्थिति में सुधार भी दिखाई दिया. 

किसी भी बीमारी के शुरुआती प्रभावों को रोकने के लिए आवश्यक है कि उसके लिए सही समय पर सही दवा, संक्रमित मरीज़ को उपलब्ध हो, इसलिए सही समय पर सही दवा का उपयोग करना काफी महत्वपूर्ण है. आपको बता दें, कि एक ये एंटीवायरल दवाएं, शुरुआती और हल्के लक्षणों वाले मरीज़ों की मदद कर सकती है.

Covid-19 के लिए बनी एंटीवायरल दवाएं

अमेरिका द्वारा अधिकृत तीन Covid-19 एंटीवायरल मोनोक्लोनल एंटीबॉडी दवाएं, SARS-CoV2 को नई कोशिकाओं को संक्रमित करने से रोक सकती हैं. शुरुआती Covid-19 के लक्षण वाले मरीज़ों को अगर यह दवाएं अस्पताल में दी जाएं, तो यह उनके मृत्यु के जोखिम को काफी कम कर सकती है. इनमें से एक दवा REGEN-COV भी है, जो उच्च जोखिम वाले रोगियों को बीमार होने से रोकती है. 

1. Remdesivir : इन एंटीवायरल दवाओं में से एक है Remdesivir, जो Covid-19 वायरस के प्रभावों को फैलने से रोक सकती है. Remdesivir इस वायरस की अधिक प्रतियों को बनाने से रोकती है. परीक्षणों से पता चलता है कि, Remdesivir अस्पताल में भर्ती Covid-19 रोगियों के ठीक होने में लगने वाले समय को कम करती है. साथ ही, इससे मृत्यु का खतरा भी कम हो होता है.

2. Anti-Inflammatory Drugs : एक रिपोर्ट के अनुसार, अस्पताल में भर्ती मरीज़ों के लिए Dexamethasone ने मृत्यु के जोखिम को कम किया है. इससे सबसे अधिक लाभ उन लोगों को पड़ा, जिन लोगों को सांस लेने में दिक्कत हुई. लेकिन उसी एक और अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, ऑक्सीज़न थेरेपी की आवश्यकता वाले रोगियों के लिए Dexamethasone का कोई लाभ नहीं, बल्कि इससे वास्तव में और हानि हो सकती है.

3. JAK Inhibitors : JAK Inhibitors दवा शरीर की सूजन को कम कर सकती है. इनका उपयोग कुछ ऑटोइम्यून स्थितियों के लिए किया जाता है. जिसमें रुमेटीइड गठिया शामिल है. वह दवा IL-6 के कारण होने वाली सूजन को रोकती है. 

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, भारत में अब तक Covid-19 डेल्टा प्लस वैरिएंट के लगभग 300 मामले सामने आए हैं. ICMR के महानिदेशक Dr Balram Bhargava ने कहा, "देश में डेल्टा वेरिएंट को अलग कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि, डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन की प्रभावकारिता का परीक्षण किया जा रहा है. 

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) के अनुसार, Covid-19 डेल्टा संस्करण अत्यधिक संक्रामक है, जो पिछले संस्करण से दोगना संक्रमण फैला सकता है. एक रिपोर्ट के अनुसार, डेल्टा संस्करण पिछले रूपों की तुलना में अधिक गंभीर हो सकता है. इस डेल्टा संस्करण से उन लोगों को ज़्यादा खतरा है, जिन लोगों का अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ. 

डेल्टा संस्करण को रोकने के लिए सरकार के कदम 

पूरे विश्व में Covid-19 के डेल्टा संस्करण से बहुत लोगों की मृत्यु हुई. ऐसे में सरकार भी इस संस्करण को रोकने के लिए जागरूक हो रही है. भारत की राज्य सरकारों ने इस संस्करण से बचने के लिए अनेक कदम उठाए. राज्यों की सरकारों द्वारा Covid-19 टीकाकरण की प्रक्रिया को भी तेज़ कर दिया गया. सरकारों के द्वारा Covid-19 टीकाकरण के लिए जागरूकता फैलाई जा रही है. भारत में अब तक कुल 82 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जा चूका है. Covid-19 के प्रभावों से बचने के लिए सरकार ने सामाजिक दूरी को शुरू से ही अपनाया है. 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com