COVID-19 News: NCPCR की टेलेकाउंसलिंग टीम SAMVEDNA के ज़रिए देगी कोविड से प्रभावित बच्चों को मानसिक समर्थन

COVID-19 News: NCPCR की टेलेकाउंसलिंग टीम SAMVEDNA के ज़रिए देगी कोविड से प्रभावित बच्चों को मानसिक समर्थन

भारत की मुख्य बाल अधिकार निकाय NCPCR (National Commission for Protection of Child Rights) ने परामर्श और मानसिक चिकित्सा में सहायता प्रदान करने के लिए COVID-19 के दौरान प्रभावित बच्चों के लिए एक टोल-फ्री टेली-काउंसलिंग हेल्पलाइन नंबर 1800-121-2830 शुरू किया है.

बच्चों के लिए मनोवैज्ञानिक प्राथमिक चिकित्सा

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने एक बयान में कहा कि टेली-काउंसलिंग सेवा उन बच्चों को मानसिक चिकित्सा और भावनात्मक सहायता प्रदान करेगी

जो क्वारंटाइन या आइसोलेशन में हैं या कोविड देखभाल केंद्रों में हैं.

बच्चे जिन्होंने COVID-19 के कारण अपने माता-पिता को खो दिया है.

बच्चों में काफ़ी अहम होता है मानसिक स्वास्थ्य

NCPCR ने इस बात को स्वीकारा है कि सभी बच्चों में विकास के विभिन्न चरणों में मानसिक स्वास्थ्य और जरूरतों में काफ़ी कमजोरियां होती हैं. COVID-19 महामारी ने हम सभी को प्रभावित किया है, चाहे हम कितने भी बड़े क्यों न हों। बच्चों में ऐसे स्थिति में चिंता, सोने में कठिनाई और भूख न लगना जैसे कई मनोवैज्ञानिक मुद्दों का अनुभव किया जा सकता है.

NCPCR देगा बच्चो को professional सहायता

आयोग की तरफ़ से यह जानकारी दी गई की जब भी कोई बच्चा टोल-फ्री नंबर डायल करेगा तो उसे एक सुरक्षित वातावरण में Experts से बात करने को मिलता है. SAMVEDNA (Sensitizing Action on Mental Health Vulnerability through Emotional Development and Necessary Acceptance) में कॉल करने के लिए टोल फ्री टेली काउंसलिंग-18001212830 (सोमवार से शनिवार सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे और दोपहर 3 बजे से 8 बजे तक) चालू रहती है.

अलग अलग भाषाओं में कर सकते हैं बात

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि यह सेवा तमिल, तेलुगू, कन्नड़, उड़िया, मराठी, गुजराती, बंगाली जैसी विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं में पूरे भारत के बच्चों की सेवा करती है. यह सेवा सितंबर 2020 में शुरू की गई थी और जिसका उद्देश्य COVID-19 महामारी के कठिन समय में बच्चों की सहायता करना है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com