Nagaland lockdown: नागालैंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने से सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की

Nagaland lockdown: नागालैंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने से सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की
JAIPUR, INDIA - MAY 10: A woman waits for transport at Badi Chaupar during a Covid-19 induced lockdown on May 10, 2021 in Jaipur, India. (Photo by Himanshu Vyas/Hindustan Times via Getty Images)

राज्य में सोमवार को मिले 133 नए मामले, 10 लोगों ने संक्रमण के कारण गंवाई जान

देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इस चुनौती से निपटने के लिए राज्य सरकारों द्वारा बहुत से राज्यों में लॉकडाउन की घोषणा की जा रही है। इसी कड़ी में अब पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड भी शामिल हो गया है। नागालैंड में सरकार के विभिन्न नेताओं की बैठक के बाद यह महत्वपूर्ण फैसला लिया गया है। राज्य में 14 मई 2021 से 21 मई 2021 तक पूर्ण रूप से लॉकडाउन जारी रहेगा। इस फैसले के बाद सरकार लॉकडाउन के लिए अलग से दिशा निर्देश भी जारी करेगी। सरकार के प्रवक्ता महोलूमो किकोन ने कहा है कि राज्य में संक्रमण के चलते लगे हुए प्रतिबंध, लॉकडाउन के दौरान भी जारी रहेंगे। 

सरकार ने लॉकडाउन के दौरान निम्नलिखित दिशा निर्देश जारी किए हैं

  • राज्य में सभी आवश्यक सुविधाएं और कृषि क्षेत्र से जुड़ी हुई गतिविधियां लॉकडाउन की श्रेणी में नहीं आएंगी।
  • राज्य के सभी सरकारी दफ्तर, सीमित स्टाफ के साथ खुले रहेंगे।
  • राज्य में चल रहे निर्माण कार्य जारी रखे जा सकते हैं मगर कार्य क्षेत्र में ठेकेदारों को सभी दिशा निर्देशों का पालन करना होगा और मजदूरों की सुरक्षा का ध्यान रखना होगा।
  • लॉकडाउन के दौरान, स्वास्थ्य विभाग टेस्टिंग पर विशेष रूप से ध्यान देगा। साथ ही टेस्टिंग की प्रक्रिया बढ़ाई जाएगी।

राज्य में सोमवार को मिले 133 नए मामलों के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 16,283 पहुंच गई है। वहीं संक्रमण के चलते 10 लोगों ने जान गंवा दी है, इससे मरने वालों की संख्या 150 हो गई है। राज्य की राजधानी कोहिमा और दीमापुर शहर में संक्रमितों की संख्या में भारी उछाल आया है। इसके चलते नागा पीपल फ्रंट ने कहा है कि अब प्रदेश के पास लॉकडाउन के सिवा कोई अन्य उपाय नहीं बचा है। साथ ही नागा पीपल फ्रंट ने सरकार की गैर जिम्मेदाराना नीतियों और कोरोना प्रबंधन की आलोचना भी की है। राज्य के लोग सरकार की गलतियों का खामियाजा भुगत रहे हैं।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com