Covid-19 Vaccine: दिल्ली वासियों के लिए खुशखबरी,अब स्पुतनिक वी के निर्माताओं से मिलेगी वैक्सीन(Covid-19 Vaccine): अरविंद केजरीवाल।

Covid-19 Vaccine: दिल्ली वासियों के लिए खुशखबरी,अब स्पुतनिक वी के निर्माताओं से मिलेगी वैक्सीन(Covid-19 Vaccine): अरविंद केजरीवाल।

 पिछले कुछ दिनों से भारत की राजधानी दिल्ली में वैक्सीनेशन अभियान वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) खत्म होने के कारण थम गया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की है कि रूसी वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) 'स्पुतनिक वी' के निर्माता राष्ट्रीय राजधानी को वेक्सीन प्रदान करने के लिए सहमत हो गए हैं। हालांकि, वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) की खुराकों को लेकर किसी भी प्रकार की कोई जानकारी साझा नही की गई है।

सरकार की कोशिश है कि कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) लगवा लें। भारत की राजधानी दिल्ली में कुछ दिनों से वैक्सीनेशन कार्यक्रम ठप पड़ा हुआ है। इस वैक्सीनेशन कार्यक्रम के रुकने की एकमात्र वजह राजधानी दिल्ली में वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) की कमी होना है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) जुटाने का प्रयास कर रहे थे। आज एक अच्छी खबर यह आई है की रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी के निर्माताओं ने दिल्ली को वैक्सीन प्रदान करने की मंजूरी दे दी है। लेकिन खुराक की मात्रा को लेकर किसी भी प्रकार का कोई खुलासा नहीं किया गया है।

 इससे पहले अरविंद केजरीवाल ने फ़ाइजर और मोडरना जैसी कंपनियों से निजी तौर पर वैक्सीन(Covid-19 Vaccine) की मांग की थी। लेकिन उन्होंने अरविंद केजरीवाल के इस प्रस्ताव को साफ तौर पर ठुकरा दिया था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री, अरविंद केजरीवाल ने बताया कि,"स्पुतनिक वी के निर्माताओं के साथ बातचीत जारी है। वे हमें वैक्सीन देंगे, लेकिन खुराक की मात्रा अभी तय नहीं हुई है। हमारे अधिकारी और वैक्सीन निर्माताओं के प्रतिनिधि मंगलवार को भी मिले थे।"

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वैक्सीन की कमी के कारण टीकाकरण अभियान को कुछ समय  के लिए रोकना पड़ा था। इस खबर के आने के बाद टीकाकरण अभियान के पुनः शुरू होने के आसार दिख रहे हैं। आपको बता दें कि स्पुतनिक-वी विश्व की एकमात्र वैक्सीन है जो कोरोना वायरस के खिलाफ 91 प्रतिशत कारगर है। 

जहां पिछले कुछ दिनों में कोरोना के नए मामलों में गिरावट दर्ज की गयी है, वहीं ब्लैक फंगस के मामलों की कुल संख्या 620 तक पहुँच गयी है। ब्लैक फंगस के इलाज के लिए इस्तेमाल होने वाली वैक्सीन की भी कमी देखी जा रही है। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com