Covid-19 Vaccine की बर्बादी पर केंद्र सरकार कसेगी नकेल, जारी हुए नए गाइडलाइन्स

Covid-19 Vaccine की बर्बादी पर केंद्र सरकार कसेगी नकेल, जारी हुए नए गाइडलाइन्स

सभी राज्यों में Covid-19 Vaccine की बर्बादी को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने भारत मे चल रहे vaccination program की गाइडलाइन्स को बदल दिया है. नए गाइडलाइन्स में वैक्सीन की बर्बादी पर रोक लगाने के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे. नए नियम 21 जून 2021 से लागू होंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश को किए गए संबोधन में बहुत सी नई घोषणाएं की गई. साथ ही वैक्सीनेशन प्रोग्राम की गाइड लाइन में काफी बदलाव किए गए हैं. नए गाइडलाइन के मुताबिक देश में हो रही वैक्सीन की बर्बादी को रोकने के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे.

आबादी के हिसाब से मिलेगी राज्यों को Vaccine

नए गाइडलाइंस में साफ तौर पर यह लिखा है कि किसी भी राज्य अथवा केंद्र शासित प्रदेश को वहां की आबादी और बीमारी के फैलने के हिसाब यानी संक्रमण दर के हिसाब से ही वैक्सीन प्रदान करवाई जाएगी.

Vaccine के लिए प्राइवेट अस्पतालों में लगेगा 150/- रुपये का सर्विस चार्ज

Covid-19 Vaccine के नए गाइडलाइन के मुताबिक प्राइवेट अस्पताल 150/- रुपए से ज्यादा का सर्विस चार्ज नहीं लगा सकते. यदि कोई निजी अस्पताल ऐसा करता है तो उसके खिलाफ उचित कानूनी कार्यवाही की जाएगी. 

गरीबों को Vaccine लगवाने के लिए मिलेगी मदद

नई गाइडलाइंस में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए एक खास योजना बनाई गई है. इस योजना के तहत गरीबों के लिए वाउचर तैयार किए जाएंगे. इन वाउचरो का इस्तेमाल निजी अस्पतालों में vaccine लगवाने के लिए भी किया जा सकता है.

Vaccine के लिए शुरू होगा 'on the spot' रेजिस्ट्रेश

पहले vaccine लगवाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता था. लेकिन अब 'on the spot' रजिस्ट्रेशन करवा कर भी vaccine लगवाई जा सकेगी. इस स्कीम से मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना जानने वाले लोगों को काफी फायदा मिलेगा.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए राज्यों को प्रदान की गई Vaccine के आंकड़े

नए गाइडलाइन जारी करने के साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों के पास मौजूदा वैक्सीन के आंकड़ों को भी जारी किया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस समय सभी राज्यों और केंद्रीय शाशित राज्यों के पास लगभग 1,19,46,925 vaccine की डोज़ उपलब्ध है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com