2DG Drug To Be Launched Next Week: कोविड 19 के इलाज के लिए 2-DG ड्रग होगी अगले हफ्ते लॉन्च : DRDO

DELHI, INDIA - JULY 28: A doctor wearing a Personal Protective Equipment (PPE) suit instructs patients as they perform yoga inside a ward at the Commonwealth Games (CWG) Village sports complex, temporarily converted into a COVID-19 coronavirus care centre, in New Delhi, India on July 28, 2020. (Photo by Amarjeet Kumar Singh/Anadolu Agency via Getty Images)
DELHI, INDIA - JULY 28: A doctor wearing a Personal Protective Equipment (PPE) suit instructs patients as they perform yoga inside a ward at the Commonwealth Games (CWG) Village sports complex, temporarily converted into a COVID-19 coronavirus care centre, in New Delhi, India on July 28, 2020. (Photo by Amarjeet Kumar Singh/Anadolu Agency via Getty Images)

कोविड 19 के कम से गंभीर लक्षण वाले मरीजों को वैकल्पिक या सहायक उपचार के रूप में दी जाएगी  2-DG ड्रग

भारत में कोविड 19 के बढ़ते मामलों के साथ ही, देश में इसके इलाज के लिए दवा और वैक्सीन बनाने या विदेशों से मंगाने की रफ्तार भी तेज हो गई है। जहां भारत सरकार तेजी से कई विदेशी और घरेलू वैक्सीन कंपनियों की वैक्सीन को देश में आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति दे रही है, वहीं DRDO द्वारा बनी पहली कोविड ओरल ड्रग, 2-DG भी अब बाजार में आने के लिए तैयार है। DRDO के अनुसार, कोविड 19 के मरीजों के इलाज के लिए बनी 2-DG ड्रग अगले हफ्ते लॉन्च हो जायेगी। 

शुक्रवार को डिफेंस रिसर्च और डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) ने बताया कि कोविड 19 के कम और गंभीर लक्षण वाले मरीजों के उपचार के लिए बनी पहली ओरल ड्रग, 2-Deoxy-D-glucose (2-DG) का पहला बैच अगले हफ्ते लॉन्च होगा। DRDO ने कहा, 'कोविड 19 के मरीजों के इलाज के लिए बना 2-Deoxy-D-glucose (2-DG) ड्रग का 10,000 डोज का पहला बैच अगले हफ्ते की शुरुआत में लॉन्च होगा और मरीजों को दिया जाएगा। भविष्य में इस ड्रग के उपयोग के लिए, ड्रग निर्माता इसके निर्माण को तेज करने पर काम कर रहे हैं। यह ड्रग, डॉक्टर अनन्त नारायण भट्ट के साथ मिलकर DRDO के वैज्ञानिकों की एक टीम ने बनाया है'।

पिछले साल 2020 में, INMAS- DRDO वैज्ञानिकों ने हैदराबाद की सेंटर ऑफ सेल्यूलर एंड मॉलेक्युलर बायोलॉजी (CCMB) की मदद के साथ 2-DG ड्रग के लैबोरेट्री प्रयोग शुरू किए थे, जिसमें उन्होंने इस मॉलिक्यूल को SARS-CoV-2 वायरस के खिलाफ प्रभावी पाया। इसके बाद मई 2020 में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने इस 2-DG ड्रग के II- चरण के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी दी, जिसमें यह ड्रग कुछ कोविड 19 मरीजों पर प्रयोग किए गए। इस II- चरण के क्लिनिकल ट्रायल में ड्रग को मरीजों में सुरक्षित पाया गया और उन में महत्वपूर्ण सुधार दिखे।

वहीं DCGI ने पिछले हफ्ते की शुरुआत में 2-DG ड्रग के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी है। इसके बारे में DRDO ने बताया, 'क्लिनिकल ट्रायल में इस मॉलिक्यूल को अस्पताल में भर्ती मरीजों को जल्दी ठीक करने, और उनमें ऑक्सीजन की निर्भरता को कम करने में असरदार पाया गया है'।

DRDO की INMAS लैब ने डॉक्टर रेड्डी लैबोरेट्रीज के साथ मिलकर इस 2-DG ड्रग का निर्माण किया है। यह ड्रग कोविड 19 के कम से गंभीर लक्षण वाले मरीजों को वैकल्पिक या सहायक उपचार के रूप में दी जाएगी , जिसे पानी में घोलकर लिया जाएगा। 

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com