Covid-19 Vaccination: 12-14 साल के बच्चों और बूस्टर डोज़ पर आया बड़ा फैसला

Covid-19 Vaccination: 12-14 साल के बच्चों और बूस्टर डोज़ पर आया बड़ा फैसला

भारत में फ़िलहाल कोरोनावायरस के मामले काफ़ी तेजी से कम हो रहें हैं, ऐसे में सरकार द्वारा कई प्रतिबंधों को भी हटाया जा चुका है. मगर संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है और इसलिए भारत सरकार ने आज, Covid-19 टीकाकरण पर एक अहम फैसला लिया है. आपको बता दें, कि आज सोमवार 14 मार्च को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने टीकाकरण से संबंधित ट्वीट भी किया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने ट्वीट किया है, कि ‘बच्चे सुरक्षित तो देश सुरक्षित! मुझे बताते हुए खुशी हो रही है, कि 16 मार्च से 12-13 और 13 -14 आयुवर्ग के बच्चों का Covid-19 टीकाकरण शुरू हो रहा है. इसके साथ ही, 60 से ऊपर आयु के सभी लोग अब प्रिकॉशन डोज़ लगवा पाएंगे. मेरा बच्चों के परिजनों और 60 से ऊपर आयुवर्ग के लोगों से आग्रह है, कि वैक्सीन जरूर लगवाएं.”

मिली जानकारी के मुताबिक, 16 मार्च से 12-14 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी. वहीं, सरकार ने 60 और 60 से अधिक उम्र के बुजुर्गों को लगायी जा रही प्रिकॉशन डोजज पर भी अहम फैसला सुनाया है. भारत के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया है, कि अब 60 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति, Covid-19 के टीके की तीसरी डोज़ ले सकता है. इसके लिए बनाई गई सभी अनिवार्यताओं को खत्म कर दिया गया है. गौरतलब है, कि अभी फ्रंट लाइन वर्कर और गंभीर बीमारियों से पीड़ित बुजुर्गों के लिए ही प्रिकॉशन डोज़ की अनुमति दी गई थी.

ऐसा माना जा रहा है, कि 12-14 साल के बच्चों को बायोलॉजिक ईएस कोर्बोवैक्स का टीका लगाया जाएगा, जो बायोलॉजिकल ई कंपनी ने बनाया है. वहीं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक 180.19 करोड़ कोरोना के टीके की खुराक लगाई जा चुकी है. केंद्र सरकार का कहना है, कि देशभर में टीकाकरण का दायरा बढ़ाया जा रहा है और इसी के साथ, लोगों को टीके लगाने की गति को तेज करने का प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि भारत सरकार द्वारा 15-18 उम्र के बच्चों के लिए टीकाकरण की शुरुआत, 3 जनवरी 2022 से की गई थी. इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किये गए आकड़ों के मुताबिक, अब तक 89,776,485 कोरोना के टीकाकरण की खुराक, 15-18 साल के बच्चों को लगाई जा चुकी है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com