Covid-19: रजनीकांत ने कोविड-19 रिलीफ फंड में दिए 50 लाख रुपये।

Covid-19: रजनीकांत ने कोविड-19 रिलीफ फंड में दिए 50 लाख रुपये।

 देश में कोविड-19 की दूसरी लहर से आतंक मचा हुआ है। इतनी बड़ी जनसंख्या के लिए कोविड-19 वैक्सीन तैयार करना सरकार के लिए एक चुनौती के रूप में सामने आया है। बहुत से सेलिब्रिटीज और उद्योगपतियों ने कोविड-19 रिलीफ फंड में दान दिया है। साउथ इंडिया के मशहूर एक्टर रजनीकांत का ने कोविड-19 फंड के लिए 50 लाख रुपए दान में दिए हैं । उनके ऐसा करने पर प्रशंसक सोशल मीडिया पर उनकी काफी प्रशंसा भी कर रहे हैं।

कोविड-19 की दूसरी लहर में सरकार के सामने बहुत सी चुनौतियां आई। कभी कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्पतालों में बैडों और आईसीयू की कमी रही, तो कभी सरकार के सामने अचानक से बढ़े कोविड-19 मरीजों के लिए ऑक्सीजन मुहैया करवाना एक चुनौती बनी रही। ऐसे में देश की बड़ी हस्तियों और उद्योगपतियों ने भी कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में काफी योगदान दिया। ऐसा ही एक नाम साउथ इंडियन एक्टर रजनीकांत का भी है। जिन्होंने कोविड-19 रिलीफ फंड में 50 लाख रुपए जमा करवाए और कोरोना के खिलाफ इस जंग में लड़ने के लिए अपना योगदान दिया। 

एक्टर रजनीकांत ने यह राशि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री, एम.के स्टालिन के पास सेक्रेटेरिएट में जमा करवाई है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब रजनीकांत ने देश की भलाई के लिए कोई योगदान दिया हो। वह पहले भी जरुरत मंदो की मदद करने के लिए योगदान देते रहे हैं। इसी वजह से वह प्रशंसकों के दिल के काफी करीब भी हैं। उनके इस मदद की वजह से उनकी सोशल मीडिया पर काफी प्रशंसा भी हो रही है। साथ ही, उन्होंने जनता से अपील भी की, कि लोग कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करें।

रजनीकांत, लोगों के बीच में 'थलाईवा' के नाम से भी मशहूर हैं। कई सालों से रजनीकांत के राजनीति में आने की खबरें सामने आती रहती हैं। 2020 में रजनीकांत ने लोगों की सेवा करने के मकसद से 'मक्कल सेवा कक्षी (Makkal Sewai katchi) नामक राजनीतिक पार्टी भी बनाई थी, किन्तु किसी कारणवश उन्होंने चुनाव में हिस्सा नहीं लिया।

राजनीति में प्रवेश किये बिना भी रजनीकांत काफी लोगों की मदद के लिए सामने आते रहते हैं। कोविड-19 की इस महामारी से भारत की लड़ाई में भी उन्होनें बहुत बड़ा योगदान दिया है। 

Related Stories

No stories found.