Covid-19 Vaccine: केंद्र कर रही सभी टीकों की फंडिंग, राज्य सभा के मॉनसून सत्र में दी जानकारी

Covid-19 Vaccine: केंद्र कर रही सभी टीकों की फंडिंग, राज्य सभा के मॉनसून सत्र में दी जानकारी

Covid-19 के टीकाकरण अभियान पर ज़ोर देने के लिए सरकार समय–समय पर कदम उठाती रही है. देश के 19 परीक्षण क्षेत्रों में हो रहे, 5 टीकों के सफल परीक्षण का पूरा फंडिंग केंद्र सरकार की ओर से किया जा रहा है. इनमें से 4 वैक्सीन कैंडिडेट्स मानवीय परीक्षण के दौर में हैं, और एक वैक्सीन कैंडिडेट का नैदानिक परीक्षण चल रहा है.

गौरतलब है कि, SII (सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया) द्वारा बनाया गया AstraZeneca का भारतीय स्वरूप, Bharat Biotech की Covaxin और रूस की Sputnik V का प्रयोग तो देश के Covid-19 टीकाकरण अभियान में चल ही रहा है. इन टीकों की फंडिंग 'मिशन कोविड सुरक्षा' के अंतर्गत की जा रही है. भारत सरकार ने भारतीय टीकों के विकास में तेज़ी लाने के लिए 900 करोड़ रुपए के प्रोत्साहन पैकेज के साथ इस मिशन की शुरुआत की थी. यह अनुदान अनुसंधान और विकास के लिए जैव प्रौद्योगिकी विभाग को प्रदान किया गया था.

केंद्र सरकार द्वारा, Covid-19 के जिन टीकों की फंडिंग की जा रही है उनमें विश्व की पहली डीएनए वैक्सीन भी शामिल है. यह Zydus Cadila द्वारा बनाया गया  ZyCov–D टीका है. यह टीका आपातकालीन उपयोग के तीसरे दौर के लिए तैयार हो चुका है. इसके अलावा BiologicalE की एक प्रोटीन टीका भी अपने तीसरे दौर के क्लिनिकल परीक्षण के लिए तैयार है. Bharat Biotech की एक स्प्रे वैक्सीन भी दूसरे दौर की परीक्षण में है. जहां Gennova का एक टीका अपने परीक्षण के पहले दौर में है, वहीं Genique Lifesciences की एक वैक्सीन अभी बिलकुल शुरआती दौर में है.
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि, Covid-19 के 'मिशन कोविड सुरक्षा' के अंतर्गत केंद्र सरकार अब तक कुल 710 करोड़ रुपए आवंटित कर चुकी है. इस मिशन से सरकार Bharat Biotech की Covaxin का उत्पादन बढ़ाने के लिए भी मदद कर रही है. राज्य सभा में यह जानकारी, केंद्रीय विज्ञान मंत्रालय के राज्य मंत्री डॉ जितेंद्र तिवारी ने दी है.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com