CoronaVirus:जाइड्स कैडिला ने एंटीबॉडी कॉकटेल के मानव प्रशिक्षण ने लिए मांगी मंजूरी।

CoronaVirus:जाइड्स कैडिला ने एंटीबॉडी कॉकटेल के मानव प्रशिक्षण ने लिए मांगी मंजूरी।

 कोरोना काल के दौरान कोरोना वायरस(CoronaVirus) से ग्रसित मरीजों का इलाज करने के लिए बहुत से इलाज सामने आते रहे। कई बार एलोपैथी तो कई बार आयुर्वेदिक दवाइयों ने कोरोना वायरस(CoronaVirus) संक्रमित मरीजों का इलाज करने में मदद की। जाइड्स कैडिला(Zydus Cadilla)की तरफ से एक एंटीबॉडी कॉकटेल तैयार किया गया है जो हल्के लक्षणों वाले कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों का इलाज करने में बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

कोरोना  काल में कोरोना वायरस(CoronaVirus) संक्रमण का इलाज करने के लिए बहुत सी इलाज पद्धतियों ने मदद की है। कोरोना वायरस) से निपटने के लिए सरकार ने प्रिकॉशन और वैक्सीन को चुना है। भारत सरकार जल्द से जल्द वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को पूरा करने पर जोर दे रही है। इसी बीच जाइड्स कैडिला(Zydus Cadilla) ने एक ऐसा एंटीबॉडी कॉकटेल तैयार किया है, जो हल्के लक्षणों वाले कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की काफी मदद करेगा।  जाइड्स कैडिला(Zydus Cadilla) ने इस बात का दावा भी किया है कि अब तक यह एंटीबॉडी कॉकटेल  ZRC-3308, जानवरों पर प्रशिक्षण के दौरान बिलकुल सुरक्षित पाया गया है।

यह दो मोनोक्लोनल एंटीबॉडी का एक कॉकटेल है, जो उस प्राकृतिक एंटीबॉडी की नकल बनाता है जो शरीर  कोरोना संक्रमण(CoronaVirus) से लड़ने के लिए बनाता है। 

जाइड्स कैडिला(Zydus Cadilla) के प्रबंध निदेशक, शरविल पटेल ने एक स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में कहा, "इस समय, COVID-19 से निपटने के लिए सुरक्षित और अधिक प्रभावी उपचार तलाशने की महत्वपूर्ण आवश्यकता है। कंपनी भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल( Drug controller general ) से मानव नैदानिक परीक्षण( Human clinical trial) करने की अनुमति मांग रही है।

रेजेनरॉन और रोश( Regeneron and Roche's) के एंटीबॉडी कॉकटेल को भारत में आपातकालीन उपयोग की मंजूरी भी मिली है। यह सिप्ला(Cipla) कम्पनी के द्वारा वितरित होगी। कॉकटेल का पहला बैच इस सप्ताह की शुरुआत में देश में उपलब्ध हो गया है। उम्मीद है कि यह कोकटेल कोरोना वायरस(CoronaVirus) से लड़ने में हमारी मदद करेगा।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com